Latest News

4 Jul 2019

नोएडा में रिश्वत लेते हुए पुलिस चौकी प्रभारी का वीडियो वायरल होने से हड़कंप

नोएडा। शहर में स्थित एक पुलिस चौकी के प्रभारी पर 50 हजार रुपये रिश्वत लेने का आरोप लगा है। मोरना गांव निवासी अजीत सिंह का आरोप है कि गांव के रहने वाले कुछ दबंग लोग उनके प्लाट पर कब्जा करना चाहते हैं। दबंगों ने चौकी प्रभारी से मिलीभगत कर मकान का निर्माण कार्य रुकवा दिया है। अब चौकी प्रभारी उनसे 5 लाख रुपये की रिश्वत मांग रहे हैं। पैसे नहीं देने पर उन्हें ही चौकी प्रभारी ने शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस से मदद नहीं मिलने पर पीड़ित ने बुधवार को रिश्वत लेने की वीडियो को वायरल कर दिया। मामला संज्ञान में आने के बाद एसएसपी वैभव कृष्ण ने जांच शुरू कर दी है। पीड़ित अजीत सिंह ने बताया कि वर्ष 2006 में उन्होंने मोरना गांव में एक प्लाट खरीदा था। इस प्लाट पर कुछ कमरे बने हुए थे। उन्होंने पुराने मकान को तोड़ कर दोबारा बनवाना शुरू कर दिया है। नींव की खोदाई के दौरान गांव के रहने वाले कुछ दबंग लोगों ने चौकी प्रभारी से शिकायत कर दी। चौकी प्रभारी ने आकर मकान का निर्माण कार्य रुकवा दिया। उन्होंने चौकी प्रभारी को प्लाट से संबंधित कागजात भी दिखाए, लेकिन वह नहीं माने। इस पर उन्होंने एसएसपी से मिल कर शिकायत की और पूरे कागजात दिखाए। एसएसपी ने उन्हें मकान बनाने की अनुमति दे दी। अगले दिन उन्होंने निर्माण कार्य शुरू किया तो दबंगों ने फिर पुलिस को बुला लिया। 
पुलिस ने दोबारा उनका काम रोक दिया। तब उन्होंने एसपी सिटी से शिकायत की। एसपी सिटी ने भी काम शुरू करने को कहा, लेकिन चौकी प्रभारी ने काम रोक कर उन्हें चौकी में मिलने के लिए बुलाया। प्रभारी ने काम शुरू करने की एवज में 50 हजार रुपये मांगे। उन्होंने उसे 50 हजार रुपये भी दे दिए। पैसे देने के बाद भी चौकी प्रभारी ने काम नहीं करने दिया। उनका आरोप है कि अब चौकी प्रभारी ने उनसे 5 लाख रुपये की मांग की। उन्होंने पांच लाख रुपये देने से इनकार कर दिया, तब प्रभारी ने उन्हें गिरफ्तार कर रविवार को शांति भंग के आरोप में जेल भेज दिया। मंगलवार को उन्होंने जमानत कराई है। वहीं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण का कहना है कि चौकी प्रभारी को रिश्वत लेने की वीडियो वायरल होने का मामला संज्ञान में है। इसकी जांच कराई जा रही है। जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसके मुताबिक कार्रवाई की जाएगी।

No comments:

Post a Comment