Latest News

4 Jul 2019

अपराधों पर अंकुश लगाने के साथ-साथ अपराधिक वारदात का खुलासा होना बेहद जरूरी : एसएसपी सुधीर कुमार सिंह

गाजियाबाद। जिले के नवनियुक्त एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने कहा कि अपराधों पर अंकुश लगाने के साथ साथ हरेक अपराधिक वारदात का खुलासा होना बेहद जरूरी है। शासन के निर्देशानुसार बच्चों व महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों पर विशेष योजना के तहत कार्य किया जाएगा। गाजियाबाद के एसएसपी पद का चार्ज संभालने के बाद निवाण टाइम्स से हुई विशेष बातचीत में नए एसएसपी ने कहा कि मुजफ्फरनगर के मुकाबले गाजियाबाद में अलग तरह का क्राइम है। मुजफ्फरनगर में जहां जघन्य किस्म का अपराध है,जबकि गाजियाबाद में चेन झपटमारी, साइबर क्राइम ,गाड़ी चोरी व दूसरी तरह की अपराधिक घटनाओं का जोर है।उन्होंने अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए पुराने एसएसपी उपेंद्र कुमार अग्रवाल की चलाई जा रही योजनाओं को ही आगे बढ़ाया जाएगा। अपराधियों के प्रति बरते जा रहे रवैये के सवाल पर नए एसएसपी का जवाब था कि संविधान में कानून के तहत बदमाशों पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बातचीत के दौरान गाजियाबाद में ट्रैफिक जाम की समस्या का शीघ्र समाधान कराने का आश्वासन दिया। हालाकि, उन्होंने माना कि गाजियाबाद में उनका पहला दिन है, इसलिए यहां का फीडबैक लेकर सभी समस्याओं को समाधान करने में और तेजी लाई जाएगी। इस मौके पर एसपी सिटी श्लोक कुमार भी मौजूद रहे। जिले के नए एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने मंगलवार देर शाम को चार्ज संभाला। एसएसपी ने चार्ज लेने के बाद गेस्ट हाउस में अधिकारियों से मुलाकात की और जिले का फीडबैक लिया। जिले में क्राइम की वर्तमान स्थिति पर अधिकारियों से चर्चा की।
इसके साथ ही जिले की मुख्य समस्याओं के बारे में भी पूछताछ की। जिले के नए एसएसपी सुधीर कुमार सिंह इससे पूर्व मुजफ्फरनगर में एसएसपी पद पर रहे हैं। निवर्तमान एसएसपी उपेंद्र कुमार अग्रवाल की डीआईजी के पदोन्नति के बाद नए एसएसपी के आने की चर्चा काफी पहले से थी। नए एसएसपी के सामने कई बड़ी चुनौतियां भी रहेंगी। चेन स्नैचिंग, लूट, साइबर क्राइम और जाम की समस्या लगातार बढ़ती जा रही हैं। काफी मुस्तैदी के बावजूद चेन स्नैचिंग, लूट, साइबर क्राइम रोजाना की आम घटना बनती जा रही है। दूसरी तरफ लूट व चोरी की वारदातें भी बढ़ी है। हालांकि, सुधीर कुमार सिंह मुजफ्फरनगर में एसएसपी रहते हुए कई मामलों में सख्तनिर्णयों से उन्हें काफी तेज-तर्रार एसएसपी माना जाता है।

No comments:

Post a Comment