Latest News

9 Jul 2019

'छोटी सी कोशिश' से सोशल मीडिया पर मिसाल बना बेंगलुरु का पुलिस कॉन्स्टेबल

बेंगलुरु। आम लोगों की सुरक्षा के लिए काम करने वाली कर्नाटक पुलिस के एक कॉन्स्टेबल की छोटी सी कोशिश आजकल सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बनी है। सोशल मीडिया पर कर्नाटक पुलिस के एक कॉन्स्टेबल की एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें वह बेंगलुरु में एक खुले सीवर को पत्थर से कवर करते हुए दिख रहे हैं। एक राहगीर द्वारा खींची गई इस फोटो को सैकड़ों लोगों ने सोशल साइट्स पर शेयर कर इस कॉन्स्टेबल की तारीफ की है। दरअसल, यह तस्वीर कर्नाटक पुलिस के कॉन्स्टेबल गिरीश एम की है जो कि फिलहाल बेंगलुरू में पोस्टेड हैं। जो तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, उसे रविवार सुबह यहां के एचएसआर लेआउट के सेक्टर-3 में खींचा गया था। जानकारी के अनुसार, गिरीश रविवार को इसी रास्ते से अपने जीप लेकर कहीं जा रहे थे, जहां उन्होंने सड़क पर एक मेनहोल का ढक्कन खुला देखा।
गिरीश ने देखा कि एक महिला और उनकी बच्ची इसी मेनहोल के पास से गुजर रही हैं और किसी दुर्घटना की आशंका में गिरीश ने पहले महिला को रोका और फिर पास पड़े एक बड़े पत्थर से खुले मेनहोल को ढांक दिया। इस बीच कॉन्स्टेबल द्वारा ऐसा करने के बीच ही एक राहगीर ने उनकी फोटो खींच ली, जिसे बाद में फेसबुक और ट्विटर पर शेयर किया गया। सोमवार को यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई और बेंगलुरु की कमिश्नर ऑफ पुलिस (साउथ ईस्ट) ईशा पंत ने भी इसकी सराहना की। लोगों ने इस बात की तारीफ की कि गिरीश ने बिना नगर निगम या किसी अधिकारी का इंतजार किए मेनहोल को ढंकने का इंतजाम किया, जिससे कि कोई राहगीर इसमें गिरकर चोटिल ना हो। गिरीश के इस प्रयास की तमाम लोगों ने तारीफ भी की और लोगों को इससे सीखने की नसीहत दी। गिरीश ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि आम लोगों को यह समझना चाहिए कि वह ऐसी समस्याओं के अस्थाई समाधान के लिए किसी एजेंसी का इंतजार ना करें और अगर ऐसी कोई समस्या दिखती है तो आम लोगों की सुरक्षा के लिहाज से कुछ उपाय जरूर कर लिया जाए। वहीं अपनी नौकरी के बारे में बताते हुए गिरीश ने कहा कि वह फिलहाल बेंगलुरु के एचएसआर लेआउट पुलिस स्टेशन में पोस्टेड हैं और साल 2007 में वह पुलिस सेवा में भर्ती हुए थे। गिरीश ने कहा कि कुछ वक्त पहले ऐसे ही एक मेनहोल के कारण उनके एक साथ पुलिसकर्मी की बेटी को चोट लगी थी, ऐसे में अन्य लोगों के साथ ऐसा नहीं हो इसलिए उन्होंने अपने स्तर पर इसका तत्काल समाधान करने का फैसला किया।

No comments:

Post a comment