Latest News

25 Jul 2019

सीएम योगी के गाजियाबाद दौरे को लेकर तैयारियां तेज

गाजियाबाद। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कांवड़ यात्रा में 28 जुलाई को आने की संभावना को लेकर प्रशासन ने पूरी तैयारियां शुरू कर दी हैं। सीएम योगी के दूधेश्वरनाथ मंदिर में दर्शन करने तथा कांवड़ पटरी मार्ग पर आकर शिवभक्तों पर फूल बरसाने की संभावनाओं को लेकर पूरे कांवड़ मार्ग को सजाया जा रहा है।
हालांकि अधिकरियों के  पास मुख्यमंत्री के आने का कोई कार्यक्रम नहीं आया है लेकिन लखनऊ से मिले मौखिक आदेश पर तैयारियां तेज हो गयी हैं। तैयारियोें के क्रम में कांवड़ यात्रा पर निगरानी के लिए लखनऊ से हेलीकॉप्टर आ गया है, मेरठ के पुलिस लाइन में लैडिंग वाले स्थान पर जलभराव के कारण हिंडन से हवाई सर्वेक्षण किये जाने की संभावना को लेकर भी प्रशासन मुस्तैद है। 26 से 30 जुलाई तक कांवड़ यात्रा में शिवभक्तों की सुरक्षा के लिये कल से हेलीकॉप्टर से एडीजी कमिश्नर, आईजी सहित अन्य अधिकारी हवाई सर्वेक्षण करके शिवभक्तों पर फूल बरसायेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आगमन को लेकर जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे व एसएसपी सुधीर कुमार सिंह पूरी तैयारी की समीक्षा प्रतिदिन कर रहे हैं। तैयारियोें के क्रम में प्रशासनिक सूत्रों की मानें तो 28 जुलाई को मुख्यमंत्री पुरातन दूधेश्वरनाथ मंदिर में दर्शन करने आ सकते हैं, इसे लेकर मंदिर को दूधिया रोशनी के साथ ही केसरिया रंग में पूरी तरह संजोया जा रहा है। डिवाइडरों की रंगाई पुताई, ग्रीन, ब्लू, हरें रंग में करते हुए चमकाया जा रहा है।
पाइपलाइन मार्ग से लेकर कांवड़ पटरी मार्ग यानि 26 किलोमीटर की दूरी को दूरूस्त कर दिया गया है। लाइटिंग की व्यवस्था 24 घंटे बने रहने के लिए जेनरेटर की भी पहली बार व्यवस्था की गयी है। मुख्यमंत्री के कांवड़ पटरी मार्ग पर शिवभक्तों को फल वितरण करने तथा उनसे मिलने की संभावना को लेकर निवाड़ी गंगनहर पुल व मुरादनगर गंगनहर पुल की दीवारों की रंगाई-पुताई कर जगह-जगह तोरणद्वार बनाये गये हंै। इस मार्ग पर पड़ने वाले ग्राम प्रधानों से लेकर ग्राम पंचायत अधिकारियों से जिला प्रशासन संपर्क साधकर भव्य स्वागत की तैयारियां कर रहा है।
हेलीकॉप्टर से बरसेंगे शिवभक्तों पर फूल
प्रशासनिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश ने कांवड़ियों की सुरक्षा व्यवस्था के तहत निगरानी के लिए हेलीकाप्टर दिया है। हेलीकाप्टर को मेरठ पुलिस लाइन मैदान में उतारने की स्थिति नहीं दिख रही है। कारण, हेलीपैड पर बारिश का पानी जमा हुआ है। ऐसे में हेलीकॉप्टर को उतारने में दिक्कत आ सकती है। अब यदि हेलीपैड स्थल की व्यवस्था ठीक नहीं हो पायी तो हिंडन एयरबेस से मेरठ मंडल व जिले के अधिकारी 26 से 30 जुलाई तक कांवड़ यात्रा का हवाई सर्वेक्षण करेंगे ओर शिवभक्तों पर फूलों की वर्षा कर उनका स्वागत होगा।

No comments:

Post a Comment