Latest News

17 Jul 2019

वर्दी पर दाग, हिरासत में दलित की मौत: भाभी का आरोप- 7 दिन तक पुलिसवाले करते रहे गैंगरेप

चुरू/जयपुर। राजस्थान के चुरू में पुलिस हिरासत में दलित युवक की मौत के मामले में करीब एक सप्ताह बाद भी अभी तक कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। इतना ही नहीं, सरदारशहर थाने के पुलिसकर्मियों पर मृत युवक की भाभी ने गैंगरेप का भी आरोप लगाया है। शनिवार को दर्ज अपने बयान में मृतक की भाभी ने बताया कि 3 जुलाई को सरदारशहर थाने की पुलिस ने उन्हें उठाया और 10 जुलाई को घर छोड़ने से पहले अलग-अलग जगहों पर उनके साथ गैंगरेप किया। फिलहाल अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। उधर, राजस्थान सरकार ने इस मामले में कड़ी कार्रवाई करते हुए चुरू के एसपी को हटा दिया है। क्षेत्राधिकारी (सीओ) को निलंबित किया गया है। शनिवार को पीड़िता के पति और मृतक के भाई ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि पुलिसकर्मियों ने उनकी पत्नी को शारीरिक रूप से बेहद प्रताड़ना दी। उन्होंने कहा, 'उन लोगों (पुलिसकर्मियों) ने मेरी पत्नी की उंगलियों को कुचलने के साथ ही नाखून तक उखाड़ डाले। उसे बहुत प्रताड़ित किया है। मेरे भाई का शव जब हमें सौंपा गया तो उसके शरीर पर 30 से अधिक चोट के निशान थे।'
'पत्नी के साथ किया गैंगरेप'
मृतक के भाई ने बताया, 'उन्होंने (पुलिसकर्मियों ने) मेरी पत्नी के साथ गैंगरेप किया और बुधवार शाम को उन्हें घर के बाहर छोड़कर चले गए। उनकी स्थिति काफी खराब है। कुछ दलित कार्यकर्ताओं की मदद से हम उन्हें जयपुर ले गए, जहां इलाज चल रहा है।'
एसपी हटाए गए, सीओ निलंबित
उधर, कार्मिक विभाग के आदेश के अनुसार चुरू के पुलिस अधीक्षक (एसपी) राजेंद्र कुमार को प्रशासनिक कारणों के चलते एपीओ पदस्थापन की प्रतीक्षा में कर दिया गया है। वहीं सरदारशहर के सीओ भंवरलाल को निलंबित किया गया है। शनिवार को पुलिस ने पीड़िता का बयान भी दर्ज किया। इसके बाद भी अभी तक इस मामले में किसी भी आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की गई है।
8 पुलिसकर्मी निलंबित, 26 लाइन हाजिर
डीजीपी भूपेंद्र सिंह ने बताया, 'इस मामले में सरदारशहर के थानाधिकारी सहित 8 पुलिसवालों को निलंबित किया गया है। पुलिस थाने के बाकी 26 लोगों के स्टाफ को भी लाइन हाजिर कर दिया गया है। इस मामले की न्यायिक जांच की जा रही है। क्राइम ब्रांच को भी हमने जांच के निर्देश दिए हैं।'

No comments:

Post a Comment