Latest News

13 Jul 2019

एचडीएफसी बैंक में फर्जी खाते खोलकर बैंक से ठगे 4.24 करोड़, 3 कर्मचारियों पर केस

नई दिल्ली। फर्जी दस्तावेजों के जरिए एचडीएफसी बैंक में 62 अकाउंट खुलवाए गए। फिर 38 क्रेटिड कार्ड बनवाकर बैंक को चार करोड़ 24 लाख का चूना लगा दिया गया। शुरुआती जांच में इस फर्जीवाड़े में बैंक के तीन कर्मचारियों की मिलीभगत भी सामने आई है। एचडीएफसी बैंक की शिकायत पर दिल्ली पुलिस की इकनॉमिक ऑफेंस विंग (EOW) ने गुरुवार को मुकदमा दर्ज कर लिया। जानकारी के मुताबिक, एचडीएफसी बैंक के अफसरों को बैंक में फर्जी अकाउंट खोल कर धोखाधड़ी का पता चला था। इसकी शुरुआत 23 मई 2018 से हुई। बैंक की रिस्क मैनेजमेंट एंड कंट्रोल यूनिट ने इसकी जांच की तो फर्जीवाड़े की बात सामने आई। जांच में पता चला कि 62 बैंक अकाउंट का पर्सनल लोन और क्रेडिट कार्ड का बकाया जमा नहीं हो रहा है।
यह बात भी सामने आई कि सभी बैंक खाते लगभग एक ही समय में खुलवाए गए थे। अकाउंट खुलवाने का तरीका भी एक जैसा था। दस्तावेजों की जांच में पता चला कि अकाउंट होल्डर्स ने खुद को एमसीडी का कर्मचारी और टीचर बताया था। सरकारी नौकरी होने के कारण बैंक ने अकाउंट खोले और क्रेडिट कार्ड भी दे दिए।यही नहीं, तुरंत सभी को पर्सनल लोन भी दे दिया गया। बैंक में जमा कराए गए दस्तावेजों की जांच को तो सभी फर्जी पाए गए। अकाउंट खुलवाने के बाद 62 फर्जी अकाउंट से पर्सनल लोन और क्रेडिट कार्ड की मदद से बैंक से 4.24 करोड़ रुपये लिए गए। यह पूरा फर्जीवाड़ा नजफगढ़ इंडस्ट्रियल एरिया, शिवाजी मार्ग मोती नगर की ब्रांच में हुआ है, जिसमें तीन बैंक एग्जिक्यूटिव की भूमिका पर संदेह जताया गया है और उनके शिकायत में उनको नामजद किया गया है। विंग ने तीनों के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। बैंक फर्जीवाड़ा सामने आने के बाद अपनी इंटरनल इंक्वायरी भी करवा रहा है, जिसमें कई अन्य अकाउंट्स की भी जांच पड़ताल होगी। आशंका है कि फर्जीवाड़े की रकम बढ़ सकती है। बैंक को संदेह है कि उन्होंने ही गुमनाम लोगों के नाम से खाता खोल रुपये का गबन किया।

No comments:

Post a Comment