Latest News

17 Jun 2019

बदमाश एक-दूसरे राज्यों में आसानी से सेटिंग कर नहीं कर पाएंगे सरेंडर

ग्रेटर नोएडा। यूपी और दिल्ली में बड़ी वारदात को अंजाम देने के बाद अब बदमाश एक-दूसरे राज्यों में आसानी से सेटिंग कर सरेंडर नहीं कर पाएंगे। गौतमबुद्ध नगर के एसएसपी ने दिल्ली पुलिस के सीनियर अधिकारियों को यहां के इनामी बदमाशों की सूची भेजी है। वहीं दिल्ली पुलिस भी वहां के टॉप बदमाशों की लिस्ट नोएडा पुलिस को देगी। दिल्ली और नोएडा पुलिस के सीनियर अधिकारियों ने तय किया है कि दूसरे जिले का बदमाश गिरफ्तार होता है तो उसके बारे में पूरी जांच की जाएगी। अगर उनकी कथित गिरफ्तारी में पुलिसकर्मियों की संलिप्तता पाई जाती है तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि जिले में आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने के बाद इनामी बदमाश दिल्ली में जाकर सरेंडर कर देते हैं या सेटिंग के जरिए अपनी गिरफ्तारी करा लेते हैं। आरोप लगते रहे हैं कि इस काम में कुछ पुलिसकर्मियों की भी मिलीभगत होती है। बदमाश के सरेंडर करने पर कई राज खुले बगैर रह जाते है। कई बार बदमाशों की रिमांड भी नहीं मिल पाती है। इससे बदमाशों को फायदा होता है। गौतमबुद्धनगर में 988 हिस्ट्रीशीटर बदमाश लिखा-पढ़ी में हैं।
जिले में अनिल दुजाना व सुंदर भाटी समेत कई गैंगों के बदमाशों ने बड़ी वारदातों को अंजाम देने के बाद दिल्ली पुलिस के सामने सरेंडर किया है। यहां तक की कई ने एनकाउंटर के डर से भी सरेंडर किया था। कई बदमाशों का बेहद कम रिमांड मिलता है, जिससे रिकवरी नहीं हो पाती है। साथ ही उनसे सख्ती से पूछताछ नहीं हो सकती है। ऐसे में अपराध से संबंधित बरामदगी नहीं हो पाती है। उनके द्वारा की गई अन्य आपराधिक वारदातों के बारे में पता नहीं चल पाता है जिसका बदमाशों को फायदा होता है। कोर्ट में सुनवाई के दौरान जब केस से संबंधित बरामदगी न होने की बात बताई जाती है तो वह संदेह का लाभ लेकर सजा से बच जाते हैं और फिर से वारदात करते हैं।-दादरी में 5 जनवरी 2019 को धर्मी उर्फ धर्मेंद्र की हत्या के मामले में फरार चल रहे 25 हजार के इनामी बदमाश रोपी को दिल्ली की क्राइम ब्रांच ने हसनपुर डिपो के पास से गिरफ्तार कर लिया। -सितंबर 2017 में ईस्ट डिस्ट्रिक्ट पुलिस ने कुख्यात अनिल दुजाना गैंग के 50 रुपये के इनामी बदमाश बिल्लू दुजाना को गिरफ्तार किया। पुलिस ने आरोपी के पास से एक पिस्टल के अलावा तीन कारतूस भी बरामद किए। बिल्लू पर हत्या के प्रयास, जबरन वसूली और लूटपाट सहित 10 से अधिक मामले दर्ज हैं।

No comments:

Post a Comment