Latest News

11 Jun 2019

नाला न बनने से नाराज पार्षद ने की आत्मदाह की कोशिश, घंटों हुआ हंगामा

गाजियाबाद। नंदग्राम में पक्का नाला नहीं बनने से नाराज कांग्रेस जिला महिला कमिटी की अध्यक्ष और पार्षद माया देवी ने सोमवार को आत्मदाह की कोशिश की। मौके पर तैनात पुलिस ने उनसे केरोसिन की केन छीन ली। इस दौरान पुलिस और पार्षद के बीच झड़प भी हुई। इससे नाराज पार्षद के समर्थकों ने निगम के खिलाफ नारेबाजी करते हुए गेट का ताला लगाकर धरना दिया। नगर निगम में करीब 3 घंटे तक ऐसे ही हंगामा चलता रहा। मौके पर पहुंचीं मेयर आशा शर्मा ने नगर आयुक्त सहित तमाम अफसरों को अपने ऑफिस बुलाया। इस दौरान कांग्रेस पार्षदों ने मेयर से कहा कि वह प्रदर्शनकारियों को बताएं कि नाले के लिए करीब चार करोड़ रुपये का प्लान यूपी सरकार को मंजूरी के लिए भेजा है। इस पर मेयर ने जाने से इनकार कर दिया और कहा कि वे लोग खुद यहां आएं। इसके बाद पार्षद माया देवी अपने समर्थकों के साथ मेयर से मिलने पहुंची। मेयर ने उनकी मांग को जल्द पूरा कराने का आश्वासन दिया। पार्षद ने सोमवार करीब 12 बजे निगम में आत्मदाह की चेतावनी दी थी। इसे देखते हुए निगम में पहले से ही पुलिस तैनात थी। इससे पहले करीब 11 बजे नंदग्राम से सैकड़ों लोग नारेबाजी करते हुए आए और धरने पर बैठ गए। उनके साथ एससीएसटी आयोग की पूर्व सदस्य एवं पूर्व सांसद सत्या बहन, कांग्रेस के महानगर अध्यक्ष नरेंद्र भारद्वाज, पार्षद जाकिर अली सैफी, अजय शर्मा, मनोज चौधरी, सपा पार्षद कल्लन अहमद, आसिफ चौधरी और नरेश जाटव भी पहुंच गए।
मिट्टी के तेल से भरी केन को कब्जे में लेते ही पार्षद माया देवी और उनके समर्थक पुलिस से भिड़ गए। दोनों पक्षों में करीब 5 मिनट तक धक्कामुक्की चलती रही। इस दौरान किसी तरह से स्थिति कंट्रोल हुई। इस दौरान निगम के एक अफसर ने एक पार्षद से ही मेयर के सामने बदसलूकी कर दी। बाद में अधिकारी ने खेद जताया कहा कि मुझे नहीं पता था कि यह व्यक्ति पार्षद है। इस दौरान एक पत्रकार ने विडियो बनाना शुरू किया तो मेयर ने कहा तुम मीडिया से हो कार्ड दिखाओ। उसने कार्ड दिखाया, लेकिन फिर भी उसे बाहर कर दिया। वार्ड-6 के डी ब्लॉक, 30 फुटा रोड से 40 फुटा रोड और मलिन बस्ती विकलांग कॉलोनी के नाले जर्जर हैं। इससे नाले का पानी सड़कों पर बहता है। कांग्रेस पार्षद इन्हीं नालों का निर्माण कराने की मांग कर रही हैं। मेयर ने बताया कि इन नालों के निर्माण का 3.96 करोड़ रुपये का प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा जा चुका है। अनुमति मिलते ही नालों का निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। वहीं, कॉलोनी में खाली पड़ी जमीन को विकसित कराने का भी आश्वासन दिया। इसके अलावा नंदग्राम में 290 करोड़ रुपये से सीवर की लाइन डालने का काम चल रहा है। इससे लोगों को सीवरेज की समस्या दूर हो जाएगी।

No comments:

Post a Comment