Latest News

14 Nov 2018

काँग्रेस द्वारा जयंती पर याद किये गये पं नेहरू : फर्रुखाबाद

शशांक मिश्रा,(फर्रुखाबाद)। भारत के राष्ट्रीय स्वतन्त्रता आंदोलन के आधार स्तम्भ तथा स्वतंत्र भारत के निर्माता माने जाने वाले पं नेहरू जो लोकतंत्र धर्म निरपेक्षता तथा समाजवादी व्यवस्था के प्रबल समर्थक थे उनके नेतृत्व में ही भारत का लक्ष्य  '  समाजवादी ढांचे के समाज ' की स्थापना को स्वीकार किया गया । यह बात आज यहाँ भारतीय विद्यालय इंटर कालेज महेश नगर मोहम्मदाबाद के प्रांगण में देश के प्रथम प्रधानमंत्री पं जवाहर लाल नेहरू की 129 वीं जयंती पर आयोजित काँग्रेस कार्यकर्त्ताओं की बैठक को सम्बोधित करते हुये काँग्रेस जिलाध्यक्ष मृत्युंजय शर्मा ने कही । उन्होनें कहा कि भारत के  स्वतन्त्रता आंदोलन के इतिहास में नेहरू जी की प्रधान भूमिका रही । मातृभूमि की सेवा के लिये विलासिता के जीवन का त्याग कर त्याग तपस्या और कष्टों का जीवन स्वीकारते हुये सन 1913 में काँग्रेस के अधिवेशन में सम्मिलित हुए । देश की स्वतन्त्रता के पश्चात पं नेहरू भारत को आधुनिक शक्ति के रूप में देखना चाहते थे । पंचशील के सिद्धांतों की घोषणा करके वे विश्व शांति के प्रबल समर्थक बन गये । इसी क्रम में वरिष्ठ प्रदेश सचिव कौशलेन्द्र यादव ने कहा कि पं नेहरू हिन्दू - मुस्लिम एकता के समर्थक तथा साम्प्रदायिकता के घोर विरोधी तथा घृणा करने वाले थे । कार्यकर्त्ताओं को सम्बोधित करते हुए लोक सभा क्षेत्र की संयोजक प्रो. दीप्ति सिंह ने कहा कि पं नेहरू सन 1912 में बैरिस्टर की परीक्षा उत्तीर्ण करने के पश्चात सन 1913 में काँग्रेस में शमिल हो गये । वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष राजेन्द्र नारायण मिश्र ने बताया कि सन 1923 से कई वर्ष तक पं नेहरू काँग्रेस के महामंत्री रहे । 
सन 1929 में उनकी अध्य़क्षता में ही पूर्ण स्वतन्त्रता का लक्ष्य घोषित किया गया । वे पांच बार काँग्रेस के अध्यक्ष निर्वाचित हुये । वरिष्ठ काँग्रेसी ओमप्रकाश ने बताया कि नेहरू जी के त्याग तपस्या और बलिदान के फलस्वरूप उन्हें स्वतंत्र भारत का प्रथम प्रधानमंत्री चुना गया । उनकी विलक्षण प्रतिभा से सम्पूर्ण विश्व प्रभावित था । महात्मा गाँधी जी ने कहा था कि ' नेहरू जी के हाथों में भारत का भविष्य सुरक्षित है '। डॉ. राधाकृष्णन के अनुसार नेहरू जी का जीवन अनंत सेवा और समर्पण का जीवन था । वे महानतम व्यक्ति थे  वे एक ऐसे अद्वितीय राजनेता थे जिनकी देश प्रेम के प्रति सेवाएं सदैव स्मरणीय रहेंगीं । भारतीय विद्यालय इंटर कालेज के प्रधानाचार्य ज्ञान प्रकाश शर्मा ने अपने संबोधन में कहा कि आधुनिक भारत के निर्माता के रूप में पं जवाहर लाल नेहरू जी का बलिदान इतिहास की अमूल्य धरोहर है । नेहरू जयंती के इस अवसर पर जिला व्यापार मण्डल के अध्यक्ष दीपक मिश्रा , श्याम लाल मीडिया प्रभारी, रामाधार पांडे , रतिराम , हरेंद्र सिंह , आदर्श मिश्र, जनार्दन सिंह , राजेन्द्र प्रसाद दुबे , अनूप सक्सेना , आशुतोष अग्निहोत्री , पवन दुबे , देवव्रत शुक्ला , वीरपाल , गोविन्द सिंह , मो0 हनीफ़ आदि के साथ सैकड़ों काँग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे ।  कार्यक्रम का संचालन बृजेश कुमार द्वारा किया गया ।

No comments:

Post a Comment