Latest News

2 Jul 2019

झुग्गी में रहने वाला टेंपो चालक निकला चार बंगलों का मालिक

भरूच। गुजरात के भरूच में रहने वाला टेंपो चालक सुरेश गोहिल उस समय हैरान हो गया, जब उसके यहां राज्य वस्तु एवं सेवा कर (एसजीएसटी) की टीम ने छापा मारा। 200 करोड़ रुपये के स्कैम को लेकर छापेमारी करने गई टीम खुद हैरानी में थी। झुग्गी में रहने वाले सुरेश को भी पता भी नहीं था कि उसके नाम पर चार बंगले हैं। भावनगर के झुग्गी में रहने वाले सुरेश का नाम दो करोड़ रुपये के बोगस जीएसटी बिलिंग स्कैम में है। उसके नाम पर चार बंगले हैं। एसजीएसटी टीम जब सुरेश के यहां छापेमारी करने पहुंची तो देखा कि वह वसंत मिल चॉल में एक ऐसे घर में रह रहा है, जिसकी छत टिन की है। टिन के छेदों को ढकने के लिए प्लास्टिक का इस्तेमाल किया गया था। अधिकारी भी रह गए हैरान अधिकारियों ने बताया कि गोहिल एंटरप्राइज के अमित चावड़ा को पकड़ा गया था। अमित के लिए गोहिल एंटरप्राइज ने 200 करोड़ रुपये के फर्जी चालान बनाए और उसके इस जीएसटी के भुगतान से राज्य के खजाने को भारी नुकसान हुआ। जांच में पता चला कि इस कंपनी का मालिक सुरेश गोहिल है। उसे वॉरंट और समन जारी किए गए लेकिन कोई जवाब नहीं आया।
टीम गोहिल से मिलने और उनके घर को देखने के लिए बेचैन थी। जब वे सुरेश के घर पहुंचे तो आश्चर्यचकित हो गए। उन्होंने सुरेश के पैन कार्ड, बिजली बिल, आधार कार्ड और बैंक पासबुक आदि की जांच की लेकिन कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला। अधिकारियों ने उसका बयान दर्ज किया। हालांकि जाने से पहले अधिकारियों ने उसके दोनों मोबाइल फोन उससे छीन लिए। घोटाले के मास्टरमाइंड की तलाश गोहिल ने बताया, 'मुझे यह भी पता नहीं है कि जीएसटी क्या है? मैंने केवल तीसरी कक्षा तक पढ़ाई की है। मैंने किसी भी कंपनी को पंजीकृत किया है। किसी ने कंपनी को पंजीकृत करने के लिए मेरे नाम और दस्तावेजों का दुरुपयोग किया है। मुझे बताया गया था कि मेरे नाम पर भावनगर में एक ट्रक और चार बंगले हैं।' एसजीएसटी के अधिकारियों ने कहा कि फर्जी गोहिल एंटरप्राइज के हर दस्तावेज में सुरेश गोहिल के मालिकाना हक का उल्लेख है। उन्होंने बताया, 'हम इस बात की जांच कर रहे हैं कि सुरेश गोहिल के दस्तावेजों का उपयोग उनकी सहमति के साथ किया गया था या नहीं। कई पार्टियों ने फर्जी चालान बनाकर जीएसटी के तहत इनपुट टैक्स क्रेडिट लिया है, जिससे राज्य को भारी नुकसान हुआ है। हमें यह देखना होगा कि क्या वह किसी अन्य बैंक खाते का संचालन करता है और घोटाले के किंगपिन को भी जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।'

No comments:

Post a Comment