Latest News

5 Jul 2019

पत्नी व तीन बच्चों की हत्या कर पति ने भी दी जान

गाजियाबाद। हरियाणा के गुरुग्राम के बाद अब उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में भी पत्नी व बच्चों की हत्या कर पति द्वारा आत्महत्या कर लेने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। इससे पहले 30 जून (रविवार) की रात को गुरुग्राम में वैज्ञानिक श्रीप्रकाश सिंह ने पत्नी सोनू, बेटी अदिति और बेटे आदित्य की हत्याकर खुद भी फांसी लगा ली थी। अब ताजा मामले में गाजियाबाद के मसूरी थाना क्षेत्र के न्यू शताब्दीपुरम में शुक्रवार तड़के एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी व तीन बच्चों की हत्या कर आत्महत्या कर ली। पत्नी के सिर में हथौड़ा मारकर हत्या की तो तीनों बच्चों को जहर देकर मारा फिर खुद भी जहर खाकर जान दे दी। मौके से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसके अनुसार पति को शक था कि उसकी पत्नी का किसी गैर मर्द से अवैध संबंध है।
सुबह हथौड़े के वार से घायल पत्नी के चीखने-चिल्लाने की आवाज सुनकर परिजन जागे, लेकिन कमरा अंदर से बंद मिला। काफी कोशिश के बाद भी गेट नहीं खुला तो परिजनों ने आसपास के लोगों को बुलाया। फिर खिड़की से देखा तो अंदर बेड पर तीनों बच्चियां व व्यक्ति पड़ा हुआ था। चारों के मुंह पर टेप लिपटी हुई थी, जबकि घायल अवस्था में उसकी पत्नी जमीन पर पड़ी हुई थी, उन्हें तुरंत पास के अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। आरोपित ने पत्नी के सिर पर हथौड़े से वार किए थे। पुलिस ने पांचों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि मृतकों की पहचान प्रदीप (37), उसकी पत्नी संगीता (32) और बेटी मनस्वी, तेजस्वी व ओजस्वी के रूप में हुई है। तीनों बेटियों की उम्र 3-8 साल के बीच थी। पत्नी संगीता कमला नेहरू नगर स्थित एम्स के एनडीडीटीसी (नेशनल ड्रग डिपेंडेंसी ट्रीटमेंट सेंटर) में स्टाफ नर्स थी। वहीं, प्रदीप के पिता फेरू वाल्मीकि मूल रूप से मेरठ के मोहिउद्दीनपुर के रहने वाले हैं। बताया जा रहा है कि  प्रदीप पहले निजी कंपनी में जॉब करता था, लेकिन फिलहाल लंबे समय से बेरोजगार था। प्रदीप अपने परिवार के साथ पिता फेरू, मां शीला व बहन रीना के साथ रहता था।
मां शीला ने बताया कि शुक्रवार सुबह 4:30 बजे वह उठी तो प्रदीप कमरे के बाहर सोफे पर बैठा हुआ था। उन्होंने प्रदीप से पूछा कि कैसे बैठा है? तो उसने जवाब नहीं दिया, जिसके बाद वह चली गई। कुछ ही देर बाद संगीता के कमरे से चीखने चिल्लाने की आवाज बाहर आने लगी। रीना ने माता-पिता को जगा कर उसका गेट खोलने की कोशिश की तो वह अंदर से बंद मिला। वह चिल्लाई तो प्रदीप ने कहा कि अभी खोलूंगा बात कर रहा हूं। इसी बीच पड़ोसी भी मौके पर पहुंच गए, फिर अचानक कमरे से कोई भी आवाज आनी बंद हो गई। फिर लोगों ने खिड़की से झांक कर देखा तो पत्नी संगीता जमीन पर पड़ी हुई थी, जबकि प्रदीप के तीनों बच्चे बेड पर थे।
नशे का आदी था प्रदीप
शीला ने बताया कि उनकी चार बेटियां व एक बेटा था। तीन बेटियों की शादी कर दी थी और रीना के लिए रिश्ता तलाश रहे थे। पिता फेरू के मुताबिक, प्रदीप नौकरी छूट जाने के बाद नशे का आदी हो गया था। वह संगीता से शराब के लिए पैसे मांगता था, इसको लेकर दोनों में झगड़ा रहता था। वह माता-पिता और बहन से भी बात-बात पर झगड़ा किया करता था। रीना ने बताया कि शराब को लेकर होने वाले झगड़े के कारण संगीता व तीन बच्चे अंदर कमरे में सोते थे और प्रदीप कमरे के बाहर रखे सोफे पर सोता था।

No comments:

Post a Comment