Latest News

4 Jun 2019

लड़की बन रिटायर्ड CBI अफसर को ठगा, हत्थे चढ़ा नाइजीरियन ठग

नई दिल्ली। राजधानी के विकासपुरी इलाके की पुलिस टीम ने फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाकर लोगों से दोस्ती करके उनसे लाखों की चीटिंग करने वाले इंटरनैशनल गैंग के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार करने का दावा किया है। इसने CBI के रिटायर्ड ऑफिसर तक को ठग लिया। डीसीपी वेस्ट मोनिका भारद्वाज का कहना है कि चीटर नाइजीरिया का रहने वाला है। उसकी गिरफ्तारी से जयपुर, अजमेर जैसे शहरों के मामलों के बारे में भी जानकारी मिली है। उसे रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है। डीसीपी ने बताया कि इस चीटर ने एक लेडी के नाम से फेसबुक अकाउंट बनाकर सीबीआई के रिटायर्ड ऑफिसर से संपर्क किया और उससे दोस्ती कर ली। चैटिंग शुरू हुई तो बहाना बनाकर बैंक ऑफ अमेरिका के अकाउंट में 1 लाख 20 हजार मंगवा लिए। जब अमाउंट पहुंच गया तो उस दिन के बाद फिर बैंक ऑफ अमेरिका में दूसरा अमाउंट भी मंगवाया और इस तरह अलग-अलग मेल और मैसेज के जरिए प्रलोभन देकर सीबीआई के इस रिटायर्ड ऑफिसर से 35 लाख से ज्यादा की चीटिंग कर डाली, जब उन्हें चीटिंग का शक हुआ तो उन्होंने मामले की शिकायत विकासपुरी थाने में की।
पुलिस ने छानबीन शुरू की। एसीपी राजेंद्र भाटिया की देखरेख में एसएचओ मधुकर राकेश, सब इंस्पेक्टर नवीन, सहायक सब इंस्पेक्टर आजाद और कॉन्स्टेबल सुरेंद्र की टीम ने लगातार सर्विलांस और टेक्निकल जांच के आधार पर आखिरकार इस मास्टरमाइंड तक पहुंचने में कामयाबी पा ली। वह फिलहाल चंद्र विहार इलाके में रह रहा था। उससे पूछताछ की तो पता चला कि वह पहले जयपुर में गिरफ्तार हो चुका है। यह चार पांच लोगों का गैंग है, जिसका मास्टरमाइंड वही है। इस चीटर का नाम ऑथर ओके है।अभी तक की पूछताछ में आरोपी ने बताया कि इस गैंग के अलग-अलग मेंबर्स को वह अलग-अलग काम देता था। किसी का काम मैसेज करना होता था, तो किसी का बैंक अकाउंट में कैश मंगवाकर उसे आगे भेजना होता था। ऑथर पूरे गैंग को ऑपरेट करता था और लोगों को फंसाकर उनसे लाखों रुपये ऐंठता था।यह गैंग जिस अकाउंट में पैसे मंगाता था वह सेरोगेट अकाउंट होता था। बदले में अकाउंट होल्डर को निश्चित रकम दी जाती थी। पुलिस को फिलहाल ऐसे 11 अकाउंट के बारे में पता चला है जिसमें उन्होंने रिटायर्ड सीबीआई ऑफिसर से पैसे मंगवाए थे। गिरफ्तार चीटर 2014 से इंडिया में रह रहा था। उसने नॉर्थ ईस्ट की एक लड़की से शादी भी कर ली है।

No comments:

Post a Comment