Latest News

28 Jun 2019

सड़क किनारे स्कूटी रोककर जलाई बीड़ी, धमाके के साथ लगी आग

अहमदाबाद। अहमदाबाद के अंबावाडी इलाके में एक भयावह दुर्घटना हुई। यहां पर सिंधु भवन रोड पर एक व्यक्ति ने बीड़ी जलाई। वह लीक गैस पाइपलाइन के पास खड़ा था। बीड़ी जलाते ही धमाके के साथ आग लग गई और 49 वर्षीय गोधन परमार बुरी तरह जल गए। पेशे से प्लम्बर गोधन का चेहरा, बायां हाथ, पैर और छाती समेत पेट के कुछ हिस्से झुलस गए हैं।घटना बुधवार दोपहर की है। गोधन उधर से गुजर रहे थे। उन्होंने फोन पर बात करने के लिए सड़के किनारे अपनी स्कूटर रोकी। फोन पर बात करने के बाद उन्होंने बीड़ी जलाने के लिए माचिस की तीली जलाई। जैसा कि उन्होंने माचिस की तीली जलाई अचानक आग लग गई। उन्होंने बताया, 'जैसे ही मैंने बीड़ी जलाई, मैंने खुद को और अपने वाहन को आग की लपटों में पाया। मैंने जल्दी से अपने कपड़े उतार दिए और अपने पूरे शरीर को थपथपा कर आग की लपटों को बुझाने की कोशिश की, लेकिन मैं तब तक जल चुका था।'गोधन ने अफसोस जताते हुए कहा, 'हालांकि इतने सारे लोग मुझे जलता देख रहे थे, कोई भी मेरी मदद के लिए आगे नहीं आया। उनमें से कुछ अपने मोबाइल को लेकर विडियो बनाने में लग गए। मैंने खुद ऐंम्बुलेंस को फोन किया।' ऐंबुलेंस ने गोधन को सोला सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। रात को उनकी हालत खराब होने के कारण उन्हें एलिसब्रिज के वीएस अस्पताल ले जाया गया।
गोधन ने आरोप लगाया कि अडानी गैस लिमिटेड पाइपलाइन से गैस लीक होने के कारण हादसा हुआ। उन्होंने मुआवजे की मांग की। उन्होंने कहा कि वह अपने परिवार के एकमात्र कमाने वाले सदस्य हैं और अब जलने के कारण वह कम से कम दो महीने तक काम पर नहीं जा पाएंगे। उन्होंने कहा, 'अब मेरे परिवार को कौन खिलाएगा? कंपनी को मुझे अपनी लापरवाही की भरपाई करनी चाहिए।'इंस्पेक्टर एम. एम. जडेजा ने कहा कि वास्तुपुर पुलिस ने शिकायत पर केस दर्ज कर लिया है। इस मामले में पूछताछ की जाएगी अगर कंपनी की लापरवाही पाई गई तो कार्रवाई की जाएगी। इस मामले में अडानी के एक प्रवक्ता ने कहा, 'अडानी गैस स्वास्थ्य, सुरक्षा और पर्यावरण से संबंधी सारे उच्चतम मानकों का पालन करती है। मैंटिनेंस का काम देखने वाली एक रखरखाव कंपनी के काम से अडानी गैस पाइपलाइन को नुकसान पहुंचा।' उन्होंने कहा कि एजीएल की एक टीम त्वरित कार्रवाई में जुट गई और टीम ने साइट पर गैस आपूर्ति को अलग कर दिया है। कार्रवाई पूरी होने के बाद आपूर्ति फिर से शुरू की गई।

No comments:

Post a Comment