Latest News

21 Jun 2019

बच्चों की मौत के सवाल पर मीडिया पर भड़के नीतीश कुमार

पटना। बिहार में अक्यूट इन्सेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से बच्चों की मौत का सिलसिला जारी है। आंकड़े 136 के पार पहुंच गए हैं लेकिन सूबे की सरकार इसे लेकर संवेदनशील नहीं दिख रही है। कम से कम सूबे के मुखिया और सरकार में शामिल मंत्रियों के बयान से तो ऐसा ही लग रहा है। पिछले दिनों एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रदेश के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने बच्चों की मौत के सवाल पर चुप्पी साध ली थी। अब सूबे के सीएम नीतीश कुमार बच्चों की मौत के सवाल पर जवाब देने की जगह मीडिया पर ही भड़क गए। बता दें कि इससे पहले शुक्रवार को संसद में भी बच्चों की मौत का मामला जोर-शोर से उठा।दरअसल, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान शुक्रवार को राज्यसभा के लिए नामांकन करने के लिए पटना में मौजूद थे। सीएम नीतीश कुमार भी उनके साथ थे। इसी दौरान पत्रकारों ने चमकी बुखार से बच्चों की मौत को लेकर सवाल कर दिया। इससे नीतीश कुमार भड़क गए। विडियो में दिख रहा है कि नीतीश कुमार पत्रकारों से नाराज हैं।
पत्रकारों पर नाराजगी जताते नीतीश का एक विडियो वायरल हो रहा है। इस विडियो में पत्रकारों को लगभग फटकारते हुए नीतीश कुमार कहते हैं, 'आप लोग मर्यादा का उल्लंघन कर रहे हैं। एक रिटर्निंग ऑफिसर के पीछे खड़े हो रहे हैं...इधर आइए...इधर आइए...।' इस बीच पत्रकार लगातार बच्चों की मौत को लेकर सवाल पूछे जा रहे हैं।बता दें कि इससे पहले भी नीतीश कुमार ने इस मामले में मीडिया को कोई जवाब नहीं दिया था। पिछले दिनों एक विडियो में साफ नजर आ आया था कि नीतीश कुमार गाड़ी में बैठे हुए हैं। बंद शीशे के पीछे से रिपोर्टर मासूमों बच्चों की मौतों पर सवाल पूछ रहा है, पर वह बेल्ट बांधते हैं, कुर्ता सही करते हैं और बच्चों की मौत के साथ-साथ राज्य की अव्यवस्था से जुड़े तमाम सवालों को अनसुना कर निकल गए थे।
उधर, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने प्रेस वार्ता में बच्चों की मौत के सवाल पर जवाब देने से साफ इनकार कर दिया था। उन्होंने कहा था, 'मैंने पहले आपको बता दिया था कि यह प्रेस कॉन्फ्रेंस सिर्फ बैकिंग समिति से जुड़े मुद्दे के लिए है। इसके अलावा कोई विषय होगा तो उसके लिए अलग से प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे...आपको इसके बारे में पूछना है तो पूछिए ..नहीं तो इसे खत्म करें।'उधर, केंद्रीय राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने बताया कि बिहार में बीजेपी के सभी 17 सांसद अपने लोकसभा क्षेत्र के लिए 25 लाख रुपये देंगे। जिलों के सदर हॉस्पिटल में पीआईसीयू (बच्चों के लिए आईसीयू) के लिए इसका इस्तेमाल होगा।

No comments:

Post a Comment