Latest News

30 Jun 2019

लूट के लिए बुजुर्ग की हत्याः खुद को फंसा देख चोर ने काट ली थीं हाथ की नसें

नई दिल्ली। बिंदापुर में चोरी की नीयत से घर में घुसे आरोपी गिदेश ने 80 साल की संतोष देवी की हत्या के बाद एक ऐसी चाल चली, जिसमें उसे पीड़ितों के फंस जाने का भरोसा था। बुजुर्ग महिला की हत्या के बाद जब गिदेश घर की पहली मंजिल पर गया था, तो वहां उसने चोरी को लगभग अंजाम दे दिया था लेकिन दूसरे कमरे में सो रहे संतोष के पोते सौरभ और उनकी पत्नी जाग गए। उन्होंने चोर को एक कमरे में बंद कर दिया। अपने आप को घिरा देखकर चोर ने कमरे के अंदर सेविंग ब्लेड से अपने दोनों हाथों की नसें काट लीं, ताकि जब पुलिस आए तो वह यह कह सके कि इन लोगों ने उसे जान से मारने की कोशिश की थी। हालांकि जब पुलिस ने उससे पूछा कि वह दूसरे घर में क्या कर रहा था तो उसके पास कोई जवाब नहीं था।
हत्या और चोरी करने के आरोप में गिरफ्तार गिदेश के बारे में पुलिस को पता लगा है कि वह इलाके में ही महावीर एन्क्लेव पार्ट-3 में सुबह के वक्त पोहा आदि बेचने का काम करता है। वह यहीं गली नंबर-74 में रहता है। उसका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं मिला है। पुलिस इस सवाल की तलाश भी कर रही है कि आखिर उसे चोरी करने की क्या जरूरत पड़ी थी। बिंदापुर थाना पुलिस सूत्रों का कहना है कि आमतौर पर बुजुर्ग महिला हर रोज सुबह 5 से 5:30 बजे उठ जाती थीं। इसके बाद वह घर का मेन गेट खोलकर पानी से छिड़काव आदि करती थीं। शनिवार को भी उन्होंने ऐसा ही किया। माना जा रहा है कि इसी दौरान संतोष देवी की निगाह से बचकर गिदेश घर के अंदर जा छिपा। बाद में जब महिला ने उसे देख लिया और विरोध किया तो उसने महिला की हत्या कर दी। कमरे में बंद होने के बाद गिदेश ने सौरभ और उनकी पत्नी को धमकी दी कि उसके दो आदमी नीचे हैं। उन्होंने उनकी दादी को बंधक बना रखा है। अगर उसे चोरी करने से रोका तो वह उन्हें मार देंगे लेकिन अनुराधा ने शोर मचा दिया। पड़ोसी जाग गए। चोर घबरा गया। अनुराधा नीचे की ओर भागी तो देखा कि दादी खून से लथपथ हालत में पड़ी थीं। घर का गेट अंदर से लॉक किया गया था। गेट खोलकर बहू ने पड़ोसियों को बुलाया। करीब 8 बजे पुलिस को जानकारी दी गई। आरोपी गिदेश एक पैर से ठीक से चल भी नहीं पा रहा था। उसे पकड़ लिया गया। पुलिस ने उसके पास से मास्क, पेचकस, प्लास, पिन, एक छोटी रॉड बरामद की है।

No comments:

Post a Comment