Latest News

9 Jun 2019

गरीबों के सपनों को भी लूट ले गए बिल्डर, दो हजार करोड रुपये का लगाया चूना

लखनऊ। बिल्डरों ने अमीरों और गरीबों दोनों को बराबर ठगा। अकेले एपीआई अंसल ने ही 10 हजार ईडब्ल्यूएस एलआईजी फ्लैट नहीं दिए हैं। इसी तरह आर संस और रोहतास में भी लोगों की कमाई फंसी है। विभिन्न कंपनियों में करीब 20 हजार कम आय वर्ग लोगों का धन दबाया हुआ है। इन कंपनियों में लोगों के दो हजार करोड़ रुपये फंसे हुए हैं। सात लाख से 20 लाख रुपये तक के आशियाने की तलाश में कम आय वर्ग के लोगों ने अपनी गाढ़ी कमाई रीयल इस्टेट कंपनियों में फंसाई है। आर संस, एपीआई अंसल, कंछल, रोहतास में कम आय और मध्यम आय वर्ग के लोग खूब फंसे हैं। इनमें से अधिकांश को अब रेरा से ही न्याय की उम्मीद है।
कंपनी को छह महीने के भीतर 10 हजार के करीब ईडब्ल्यूएस और एलआइजी फ्लैटों का निर्माण करने का आदेश तीन महीने पहले शासन स्तर पर दिया गया था। साथ ही पूरी कॉलोनी में सड़क, पार्क और अन्य जनसुविधाएं इसी साल के अंत तक विकसित करने का भी आदेश था।

No comments:

Post a Comment