Latest News

2 Apr 2019

बैंक के गार्डों ने भाई-बहन को पीटा, एडीजी के हस्तक्षेप पर एफआईआर दर्ज

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के हजरतगंज स्थित आईसीआईसीआई बैंक के सुरक्षा गार्डों ने शनिवार शाम गाड़ी खड़ी करने को लेकर गोमतीनगर निवासी भाई-बहन से मारपीट की। पीड़ित की सूचना पर पुलिस पहुंची तो बैंककर्मी गार्डों के पक्ष मे खड़े हो गए। इसी दौरान एक महिला आईपीएस आई, जो एक बैंककर्मी की बहन थीं। उनके दबाव में पुलिस उल्टा पीड़ित भाई-बहन को धमकाने लगी। अगले दिन रविवार को इस मामले की जानकारी एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार को देने के बाद हजरतगंज पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज किया। गोमतीनगर निवासी प्रिंयका ने बताया कि वह शनिवार शाम एक फर्निचर हाउस में खरीदारी करने गई थी। उनके भाई ने आईसीआईसीआई बैंक के पास कार खड़ी करने का प्रयास किया जिस पर बॉम्बे इंटेलिजेंस सिक्यॉरिटी एजेंसी के सुरक्षा गार्ड ने आपत्ति कर दी लेकिन उसने काफी देर तक यह नहीं बताया कि गाड़ी कहां खड़ी करें। इसे लेकर प्रियंका के भाई से उसकी कहासुनी होने लगी।
इतने में करीब आधा दर्जन से ज्यादा गार्ड जुट गए और भाई को मारने पीटने लगे। बीच बचाव करने पर प्रियंका को भी मारा-पीटा। प्रियंका की सूचना पर हजरतगंज थाने की पुलिस पहुंची तो बैंक के अफसर बाहर आए और गार्डों का बचाव करने लगे। इसी बीच एक महिला आईपीएस पहुंची जिन्होंने खुद को एसपी होमगार्ड और बैंक के एचआर मैनेजर की बहन बताया। महिला आईपीएस ने पीड़ितों को धमकी दी और पुलिसवालों को वहां से भगा दिया। हालांकि एक एसआई ने उनकी बात न मानकर दो गार्डों को पकड़ लिया और थाने ले गए। आरोप है कि महिला आईपीएस के दबाव में सीओ और थाने के स्टाफ कार्रवाई करने की बजाय आरोपियों की आवभगत करने में जुट गए। पीड़िता ने रविवार को मामले की जानकारी डीजीपी सहित अन्य उच्चाधिकारियों को दी। एडीजी एलओ के निर्देश पर पुलिस ने रिपोर्ट तो दर्ज की लेकिन आरोपी गार्डों को छोड़ दिया। 

No comments:

Post a Comment