Latest News

10 Apr 2019

खुले में लघुशंका करने वालों को महिलाओं की ये टोली सिखा रही सबक

फरीदाबाद। शहर में कहीं भी सड़क किनारे लघुशंका करने वालों को शर्मशार करने और फिर जागरूक करने का जिम्मा महिलाओं की एक टोली ने उठाया हुआ है। संस्कार फाउंडेशन के बैनर तले कुछ महिलाएं समय मिलते ही इकट्ठा होती हैं और निकल पड़ती हैं शहर की सड़कों पर। कहीं भी खुले में लघुशंका करते हुए दिखाई देता है तो उसके पास जाकर डफली व चिमटा बजाने लगती है।महिलाओं का मकसद ऐसे लोगों को शर्मशार करना है जो सड़क किनारे लघु शंका करते हैं। ताकि वह आगे से खुले में ऐसा न कर सके। मौके पर लोगों को दोबारा ऐसा न करने के बारे में समझाया भी जाता है। इस टोली का नेतृत्व परमिता चौधरी कर रही हैं। 
सैनिक कॉलोनी निवासी यह जुझारू महिला लगातार टोली का विस्तार करने में जुटी है ताकि शहर के हर कोने में इस तरह का अभियान चलाया जा सके।परमिता कहती हैं ऐसे लोगों को सोचना चाहिए कि जब शहर में जगह-जगह शौचालय बने हुए हैं तो फिर खुले में ऐसा क्यों करते हैं। इनकी वजह से किसी की मां, बेटी और बहन को शर्मशार होना पड़ता है। इन्हें रोकने के लिए ही उन्हें सड़क पर उतरना पड़ा है। टीम लघुशंका करने वालों का फोटो भी खींचती हैं। खुले में शौचमुक्त के लिए यह मुहिम जरूरी है। इसके लिए कई बार नगर निगम को ऐसे लोगों पर मोटा जुर्माने के लिए शिकायत दी गई है।परमिता के अनुसार जब तक वास्तव में शहर स्मार्ट नहीं बन जाता तब तक मुहिम जारी रहेगी। नशे के खिलाफ मुहिम परमिता चौधरी ने अपने सहयोगियों की मदद से नशे के खिलाफ भी मुहिम छेड़ी हुई है। रिहायशी इलाकों में शराब ठेकों का विरोध करना, अवैध शराब कारोबार बंद कराना मुख्य रूप से मुहिम चल रही हैं। इनके बारे में कई बार धरना-प्रदर्शन भी हो चुके हैं।

No comments:

Post a Comment