Latest News

14 Apr 2019

'विकी डोनर्स' के स्पर्म बदल देता था डॉक्टर, बना 49 बच्चों का पिता

हेग। नीदरलैंड में एक डॉक्टर के 49 बच्चों का पिता होने का समसनीखेज मामला सामने आया है। दरअसल जेन करबैट नाम का यह डॉक्टर अपने मरीजों के साथ धोखा करता था और डोनर के स्पर्म से अपना स्पर्म बदलकर उसे आईवीएफ टेक्नीक के लिए इस्तेमाल करता था। यह मामला तब सामने आया जब 'डिफेंस फॉर चिल्ड्रन' नाम के एक संगठन ने डीएनए टेस्ट करवाया।  
संगठन ने बताया कि निज्मेजेन शहर के एक अस्पताल में शुक्रवार को किए गए डीएनए टेस्ट के नतीजों में पता चला है कि 49 बच्चों का पिता करबैट है। उसने आगे बताया कि इस टेस्ट से सामने आया कि अपने क्लिनिक में करबैट अपने ही स्पर्म का इस्तेमाल करता था। बता दें करबैट के क्लिनिक को अनियमितताओं के आरोप के बाद साल 2009 में ही बंद किया जा चुका है और साल 2017 में इस डॉक्टर की मौत भी हो चुकी है। 
एक डच कोर्ट द्वारा फैसला सुनाए जाने के बाद फरवरी में यह मामला सार्वजनिक हुआ। कोर्ट ने फैसला दिया था कि करबैट का डीएनए टेस्ट पैरंट्स और पीड़ित बच्चों के लिए उपलब्ध कराया जाए जिससे उन्हें जानकारी मिल सके। अपनी मौत से पहले 89 साल के करबैट ने भी स्वीकार किया था कि उस समय वह 60 बच्चों का पिता है। डच के एक अखबार ने यह भी बताया कि बाद में करबैट ने यह भी स्वीकार किया था कि उसने डोनर्स के स्पर्म में मिलावट की और डोनर्स के डॉक्युमेंटेशन में भी धोखाधड़ी की। 'करबैट के बच्चों' ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया जिससे करबैट के परिवार को डीएनए टेस्ट का रिपोर्ट सार्वजनिक करने के लिए मजबूर होना पड़ा। 
हालांकि करबैट के वकीलों ने तर्क दिया कि उनके क्लाइंट के निजता के अधिकार का सम्मान किया जाना चाहिए। लेकिन जज ने बच्चों के अधिकार को निजता के अधिकार से ऊपर रखते हुए डीएनए रिपोर्ट बच्चों और उनके परिवार को साझा करने का फैसला सुनाया। डिफेंस फॉर चिल्ड्रन ने बताया कि शुक्रवार को हुए खुलासे से इतर यह संभावना है कि करबैट 49 से ज्यादा बच्चों का पिता है। 

No comments:

Post a Comment