Latest News

24 Mar 2019

पॉलिटेक्निक की परीक्षा में साधु ने पूरी आंसरशीट ही बदल दी

अहमदाबाद। गुजरात टेक्‍नॉलॉजिकल यूनिवर्सिटी (जीटीयू) के तहत आने वाले पॉलिटेक्निक कॉलेजों में हुई सामूहिक नकल की जांच के दौरान एक दिलचस्‍प मामला सामने आया है। गांधीनगर जिले के कल्‍लोल स्‍वामीनारायण पॉलिटेक्निक कॉलेज में हुई परीक्षा में एक साधु ने पूरी की पूरी आंसरशीट ही बदल दी।  दरअसल यह साधु इस पॉलिटेक्निक का थर्ड सेमेस्‍टर का छात्र है और उसी गुरुकुल में रहता है जिसमें यह पॉलिटेक्निक स्थित है। जांच में पता चला कि साधु ने परीक्षा केंद्र के बाहर किसी से यह आंसर शीट लिखवाई और बाद में सेंटर के अंदर लाकर इसे दूसरी आंसरशीट के बीच रखवा दिया। सजा के तौर पर साधु पर तीन साल के लिए परीक्षा में बैठने पर रोक लगा दी गई है। अधिकारियों का कहना है कि जांच में उजागर हुआ कि पॉलिटेक्निक के अधिकांश स्‍टाफ का यहां हुई नकल में हाथ था। इस मामले में जीटीयू के वाइस चांसलर नवीन सेठ का कहना है, 'साधु की हैंडराइटिंग आंसरशीट में उसकी लिखावट से मेल नहीं खाई। इसके बाद ही साबित हुआ कि उसने किसी और से जवाब लिखवाकर आंसरशीट जमा करवा दी थी।' 
इस कॉलेज में हुई साम‍ूहिक नकल का विडियो वायरल होने पर जांच शुरू की गई थी। सेठ ने बताया, 'हमने कॉलेज के 250 छात्रों के रिजल्‍ट रोक लिए हैं। हमें संदेह है कि कम से कम तीन पेपरों में यहां सामूहिक नकल हुई है। ईमानदार छात्रों को इसका खामियाजा न भुगतना पड़े इसीलिए गहराई में जांच की जा रही है।' यूनिवर्सिटी के अधिकारियों का कहना है कि इस कॉलेज को परीक्षा केंद्रों की सूची से एक साल के लिए हटा दिया गया है और एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। इसके अलावा परीक्षा में ड्यूटी देने वाले स्‍टाफ को मिलने वाला भत्‍ता भी वापस ले लिया गया है। जिन तीन पॉलिटेक्निक कॉलेजों में सामूहिक नकल हुई वे हैं- कल्‍लोल पॉलिटेक्निक, महौदी के पास स्थित अतुल पॉलिटेक्निक और मोडासा का तत्‍व पॉलिटेक्निक। तत्‍व पॉलिटेक्निक के 50 और अतुल पॉलिटेक्निक के 10 छात्रों के खिलाफ अनुशासनात्‍मक कार्रवाई की गई है। 

No comments:

Post a Comment