Latest News

21 Feb 2019

11 सालों में अंजाम दीं लूट की 75 वारदातें, पकड़े गए 'नेताजी'

नागपुर। हरविंदर सिंह उर्फ सनी का लूट का खेल आखिरकार खत्म हो गया। पिछले 11 सालों में इस 34 वर्षीय शख्स ने करीब 75 रेल लूट की घटनाओं को अंजाम दिया था। सनी पिछले कई सालों से पुलिस और रेलवे के लिए सिरदर्द बना हुआ था। 75 में से 20 लूट की घटनाएं इसने सिर्फ मुंबई सेक्टर में अंजाम दी थीं। उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले के हलदौर कस्बे का रहने वाला सनी यहां की नगर पंचायत का सभासद था। सनी पर आरोप है कि वह अकसर देश के अलग-अलग हिस्सों में जाकर ट्रेनों के एसी कोच में रिजर्वेशन करवाता और रात में यात्रियों के सोने का इंतजार करता। जैसे ही कोच के सारे यात्री सो जाते यह उनका सामान चुराकर जनरल या स्लीपर कोच में बैठे अपने भाई गौरव को दे देता और चुपचाप वहां से फरार हो जाता। हालांकि उसकी किस्मत तब धोखा दे गई जब उसने सेना के एक ब्रिगेडियर की पत्नी से करीब 10 लाख रुपये के गहने और नकदी लूटकर फरार हो गया। ब्रिगेडियर की पत्नी के साथ यह वारदात 11 फरवरी को हुई थी, जब वह हजरत निजामुद्दीन-सिकंद्राबाद दुरंतो एक्सप्रेस से सफर कर रही थीं। इस लूट की घटना के बाद जीआरपी और पुलिस उसकी तलाश में जुट गए। विजयवाड़ा जीआरपी ने इन दोनों की तलाश के लिए हैदराबाद रेलवे स्टेशन पर ट्रैप बिछाया।
दोनों आमतौर पर मुंबई, नागपुर, हैदराबाद, बेंगलुरु, दिल्ली, सिकंद्राबाद जैसे हाई प्रोफाइल रेलवे स्टेशनों की ओर जाने वाली ट्रेनों में लूट की घटना को अंजाम देते थे। जीआरपी का अंदाजा सही निकला और ये दोनों हैदराबाद रेलवे स्टेशन पर ही घूमते पाए गए, जहां से इन्हें 16 फरवरी को गिरफ्तार कर लिया गया।पूछताछ में उन्होंने बताया कि 11 फरवरी को लूट की घटना आखिरी नहीं थी, इसके बाद भी इन्होंने 13-14 फरवरी की रात को नागपुर-मुंबई दुरंतो एक्सप्रेस से 1.90 लाख की चोरी की। इसके अलावा मुंबई-शोलापुर सिद्धेश्वर एक्सप्रेस में 15 फरवरी को 1.30 लाख की चोरी की थी। दोनों को गिरफ्तार करने के बाद नागपुर जीआरपी के हवाले कर दिया गया। हैरानी की बात है कि सनी जिस हलदौर नगर पंचायत से पार्षद था वहां के लोगों को उसके कामों के बारे में जानकारी ही नहीं थी। हलदौर नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी से बात करने की कोशिश की गई, लेकिन वह उपलब्ध नहीं थे। 

No comments:

Post a Comment