Latest News

6 Jan 2019

सोशल मीडिया से लड़कों के मुकाबले ज्यादा डिप्रेशन में पड़ती हैं लड़कियां : अंतर्राष्ट्रीय

लंदन। टेक्नॉलजी रेवॉल्यूशन के जमाने में लोग अपनों से ज्यादा सोशल मीडिया पर मिले लोगों के साथ समय बिताना पसंद करते हैं। सोशल मीडिया पर हद से ज्यादा समय बिताकर लोग अपने मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य से भी खिलवाड़ कर रहे हैं। हाल की एक स्टडी में बताया गया है कि सोशल मीडिया पर बहुत ज्यादा समय बिताने वाली टीनेज लड़कियों में अपने हमउम्र लड़कों की तुलना में डिप्रेस होने का खतरा दोगुना होता है। 
अपनी तरह की पहली स्टडी में सोशल मीडिया और डिप्रेशन के लक्षणों के बीच संबंध देखा गया। ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन (यूसीएल) के शोधकर्ताओं ने करीब 11,000 युवाओं से प्राप्त डेटा का विश्लेषण किया और पाया कि 14 साल की लड़कियां सोशल मीडिया का बहुत ज्यादा इस्तेमाल करती हैं। उनमें हर पांच में से दो टीनेज लड़कियां सोशल मीडिया का हर पांच में से एक लड़के के मुकाबले प्रतिदिन तीन घंटे ज्यादा इस्तेमाल करती हैं।वहीं, 10 प्रतिशत लड़कों के मुकाबले केवल 4 प्रतिशत लड़कियां ऐसी पाई गईं जो सोशल मीडिया का इस्तेमाल नहीं करती। अध्ययन के परिणामों में पाया गया कि सोशल मीडिया का मामूली इस्तेमाल करने वाली 12 प्रतिशत और अधिक इस्तेमाल (प्रतिदिन पांच या उससे ज्यादा घंटे) करने वाली 38 प्रतिशत लड़कियों में गंभीर स्तर के अवसाद के लक्षण देखे गए। यूसीएल के एक प्रफेसर वोन्ने केली ने बताया, 'लड़कों की तुलना में लड़कियों में सोशल मीडिया के इस्तेमाल और डिप्रेशन के लक्षणों के बीच संबंध ज्यादा मजबूत देखा गया।' यह अध्ययन ई-क्लिनिकल मेडिसिन पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।

No comments:

Post a Comment