Latest News

2 Jan 2019

यूपी पुलिस को नए साल का तोहफा, ड्यूटी के दौरान अपंग होने पर मिलेगी आर्थिक सहायता : उतर प्रदेश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पुलिस और अग्निशमन सेवा के अफसरों व कर्मियों को ड्यूटी के दौरान घटना या दुर्घटना में अपंग होने पर अब आर्थिक सहायता दी जाएगी। यह फैसला मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में लिया गया। अभी तक सिर्फ मृत्यु होने पर ही आर्थिक सहायता दिए जाने का प्रावधान था। इसके साथ ही अन्य पांच मुद्दों पर कैबिनेट में चर्चा हुई। कैबिनेट बैठक के बाद मंत्री श्रीकांत शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया कि ड्यूटी के दौरान दुर्घटनाओं में अपंग होने पर फायर और पुलिस विभाग के कर्मचारियों को आर्थिक सहायता दी जाएगी। उन्होंने बताया कि 80 से 100 फीसदी तक विकलांगता पर 20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता का प्रावधान रखा गया है। जबकि 70 से 79 तक विकलांगता तक पर 15 लाख, 50 फीसदी से 69 फीसदी तक विकलांगता पर दस लाख रुपये दिए जाएंगे। 
प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने बताया कि विकलांगता पर घटना की एफआईआर की कॉपी और मेडिकल सर्टिफिकेट के आधार पर आर्थिक सहायता मिलेगी। उन्होंने बताया कि अभी तक हिंसा या ड्यूटी के दौरान पुलिसवाले की मृत्यु होने पर परिवार को चालीस और परिवार को दस दिया जाता है। लेकिन विकलांगता पर कोई राशि नहीं थी। यह नियम नक्सल प्रभावित इलाकों में लागू थी। अब यूपी में भी इसे लागू किया जा रहा है। 
यूपी सतर्कता अधिष्ठान (विजिलेंस) की स्वायत्तता की दिशा में कैबिनेट में अहम फैसला किया है। विजिलेंस के 10 सेक्टरों को थाना घोषित करने का प्रस्ताव भी कैबिनेट ने पास कर दिया है। अरविंद कुमार ने बताया कि विजलेंस वाले प्रदेश के दस सेक्टरों पर बैठते हैं ये सेक्टर हैं लखनऊ, अयोध्या, गोरखपुर, वाराणसी, प्रयागराज, कानपुर, झांसी, आगरा, बरेली और मेरठ। इन्हें थाना घोषित कर दिया गया है। 

No comments:

Post a Comment