Latest News

26 Jan 2019

अंतरराज्यीय बावरिया गैंग गिरोह का पर्दाफाश, 7 महिलाएं, 4 पुरुष गिरफ्तार

कानपुर। कुंभ में लूटपाट करने के लिए प्रयागराज जा रहे अंतरराज्यीय बावरिया गैंग का पुलिस ने भंडाफोड़ कर दिया। फतेहपुर बॉर्डर पर बसे छिवली गांव के पास हाईवे से दो लग्जरी कारों पर सवार सात महिलाओं, चार पुरुष और एक बच्चे को पकड़ा गया है। गिरोह के आधा दर्जन गुर्गे ट्रेन से कुंभ पहुंच चुके हैं। पुलिस उनकी तलाश में लगी है। पुलिस ने इनके पास से तीन सब्बल, छह मोबाइल, 10 चाबी के गुच्छे और एक किलो चरस बरामद की है।एसएसपी अनंत देव और एसपी ग्रामीण प्रद्युम्न सिंह ने बताया कि चेकिंग के दौरान महाराजपुर पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली। बावरिया गैंग के सरगना हरियाणा के पलवल निवासी राजू को गिरफ्तार किया गया है। उसके साथ रेवाड़ी धारूणा की रीता पत्नी कालू बावरिया, महारानी, सुनीता, लक्ष्मी, गुड्डी, खुशबू उर्फ शकुंतला, लता, महेंद्रगढ़ हटेली निवासी शिवकुमार बावरिया, पंजाब के बठिंडा निवासी रवि बावरिया और हरियाणा निवासी रवि को गिरफ्तार किया गया है। इनके साथ तीन साल का बच्चा भी है। राजू के खिलाफ बुलंदशहर में जहरखुरानी के मामले दर्ज हैं। शातिर मथुरा समेत कई शहरों में गिरोह बनाकर घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं। उनका इरादा कुंभ में डेरा डालकर कई दिनों तक लूटपाट करने का था। ये लोग हरियाणा के सक्रिय बावरिया हैं। उधर, महाराजपुर पुलिस की एक टीम कुंभ रवाना कर दी गई है।
खुद को पुलिस से बचाने शातिर बावरिया गिरोह में महिलाएं और बच्चों को साथ रखते थे। बावरिया गिरोह भीड़भाड़ वाली जगह पर पर्स, जहरखुरानी से लेकर चेन स्नेचिंग तक की वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। पकड़े जाने पर महिलाओं व बच्चों को देखकर वे बच निकलते थे। ऐसे में इन पर कोई शक भी नहीं करता था। यही वजह थी कि आसानी से समूह में एकत्र होकर लूटपाट की घटनाओं को अंजाम देकर फरार हो जाते थे। छोटे-मोटे प्रकरण में कहीं फंस भी जाते थे तो बच्चों को देखकर छोड़ दिए जाते थे।महाराजपुर एसओ ने बताया कि शातिरों के पास से बरामद हुई दोनों कारों के नंबर हरियाणा के फर्जी निकले हैं। रजिस्ट्रेशन और नंबर प्लेट के मुताबिक दोनों के मालिक अलग-अलग हैं। गिरोह ने खुद ही गाड़ी खरीदकर उसमें फर्जी नंबर प्लेट लगा रखी थी। नंबरों की पड़ताल की जा रही है।

No comments:

Post a Comment