Latest News

31 Jan 2019

जासूस भी गए हार, नहीं मिल रहे 145 करोड़ के बिजली बिल बकाएदार

फरीदाबाद। जासूस भी बुला लिए, सेवानिवृत्त कर्मचारी भी लगा दिए लेकिन बिजली निगम के लिए उन 31 हजार उपभोक्ताओं को खोजना मुश्किल हो रहा है जिनके पास निगम के 145 करोड़ रुपये बकाया चल रहे हैं। शहर में ऐसे कई उपभोक्ता हैं जिनके घर का पता नहीं चल रहा है। 10-15 साल पुराने यह उपभोक्ता अब घर बदल चुके हैं इसलिए ऐसी परेशानी सामने आ रही है।फरीदाबाद में कुल 31 हजार उपभोक्ताओं पर निगम के 145 करोड़ रुपये बकाया हैं। एसई का कहना है कि सरचार्ज माफी योजना में बकायदारों को लाभ देने का प्रयास किया जा रहा है। सर्कल में कनेक्टेड 8 हजार तो डिसकनेक्टेड 23 हजार उपभोक्ताओं ने बकाया बिल क्लियर नहीं कराए हैं। इनमें से लगभग 20 हजार से ज्यादा उपभोक्ताओं के घर का पता नहीं चल पा रहा है कि वे कहां रह रहे हैं? इनमें वे उपभोक्ता शामिल हैं जो 10 से 15 साल पहले जहां रहते थे अब वहां से घर बदल चुके हैं। निगम ने करीब 25 दिन पहले इनकी खोज के लिए दिल्ली की एक डिटेक्टिव एजेंसी हायर की थी और रिटायर्ड बिजली कर्मचारियों को इनकी मदद के लिए नियुक्त किया था, लेकिन अभी तक नतीजा जीरो रहा है। 
बिजली निगम एसई प्रदीप चौहान का कहना है कि जो डिफॉल्टर अभी छिपे हुए हैं, 31 जनवरी के बाद उन्हें कोई मोहलत नहीं दी जाएगी। शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में डिफॉल्टर उपभोक्ताओं को नोटिस भेजे जा चुके हैं, अब ऐसे बकायदारों पर साल 1975 लैंड रिकवरी ऐक्ट के तहत कानूनी कार्रवाई कराई जाएगी। हालांकि कनेक्टेड 8 हजार में से 5 हजार उपभोक्ताओं का कनेक्शन काटा जा चुका है। 

No comments:

Post a Comment