Latest News

7 Dec 2018

बाबा साहेब डॉ .भीमराव अम्बेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर दी गई श्रद्धांजलि : फर्रुखाबाद

कुलदीप अवस्थी,(फर्रुखाबाद)। बाबा साहेब डा. भीमराव अंम्बेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति संघर्ष समिति ने अध्यक्ष राकेश कुमार सागर पूर्व सूबेदार के नेतृत्व में जेएनवी रोड, फतेहगढ़ स्थित डा. भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा पर सभी उपस्थित भद्रजनों ने माल्यार्पण किया गया एवं श्रद्धांजली सभा आयोजित हुई जिसमें बाबा साहेब के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर चर्चा की गई ।  श्री सागर ने कहा कि बाबा साहेब ने भारत और भारतीय समाज के उत्थान के लिए अथक परिश्रम व संघर्ष किया तथा दलित का विश्व भर में सर इतना ऊंचा कर दिया है कि जिसकी बराबरी भविष्य में भी कोई नहीं कर सकता है। बाबा साहेब ने शैक्षिक योग्यता एवं हर विषय में विद्वता हासिल कर दलित समाज को सम्मानित करने का महान काम किया है जिसकी बजह हम सभी बाबा साहेब के बंशज और बाबा साहेब हमारे पूर्वज थे कह कर आज न केवल गौरवान्वित हैं बल्कि श्रेष्ठता में भी शीर्षस्थ व सम्मानित हैं । 
बाबा साहेब के मिशन को  न आगे बढ़ाने वाले जन जन का उद्धार करने हेतु अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति की तमाम जातियों के बीच एकता और बंधुत्व को कायम  न करने वालों में आपसी विश्वास को बढ़ाने की जरूरत है।  आर सी गौतम ने कहा कि बाबा साहेब के 06 दिसंबर 1956 को महापरिनिर्वाण होने से पहले 14 अक्टूबर 1956 को अपने पांच लाख अनुयायियों के साथ बौद्ध धर्म की दीक्षा ली और सेहत खराब होने के बाबजूद बौद्ध धर्म के प्रचार हेतु जापान और श्रीलंका भी गए थे। समिति के उपाध्यक्ष रामचन्द्र ने कहा कि बाबा साहेब ने न केवल अपना संपूर्ण जीवन देश और समाज का उत्थान करने में अर्पित कर दिया, उनके इस संघर्ष से प्रेरणा लेकर हमें भी समाज हित में कार्य करने का संकल्प लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज जनपद फर्रुखाबाद में राकेश कुमार सागर  के नेतृत्व में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति संघर्ष समिति प्रतिबद्धता के साथ बाबा साहेब के मिशन को आगे बढ़ाने का उल्लेखनीय कार्य कर रही है ।  समाज में जागरूकता एवं समरसता के लिए आपसी मतभेदों को भुलाकर हमें एकजुटता प्रदर्शित कर दलित शक्ति का बोध कराने की जरूरत पर बल दिया तथा हनुमान जी दलित थे ऐसे साजिशी बयानों से समाज को सावधान रहने की जरूरत है एवं बाबा साहेब के बताए रास्ते पर चल कर परिवार, समाज और देश का कल्याण करने पर बल दिया ।  इस अवसर पर विनोद कुमार एडवोकेट, किशनलाल गौतम, सियाराम, पेशकार, धनीराम बौद्ध, सियाराम सेक्रेटरी, केपी सिंह, प्रमोद कुमार, परशुराम, गंगाराम मित्रा, नीरज दयाल, अभिलाष जाटव एवं विनोद कुमार बगैरह प्रमुख रूप से उपस्थित रहे ।

No comments:

Post a Comment