Latest News

26 Dec 2018

एम्स के सीनियर डॉक्टर ने चौथी मंजिल से लगाई छलांग, मौत : नई दिल्ली

नई दिल्ली। एम्स के एक डॉक्टर ने मंगलवार रात एक अपार्टमेंट की चौथी मंजिल पर स्थित अपने फ्लैट की बालकनी से कूदकर खुदकुशी कर ली। उनके पास से कोई सूइसाइड नोट नहीं मिला, लेकिन छानबीन के बाद पुलिस का दावा है कि पत्नी से झगड़े के बाद गुस्से में आकर डॉक्टर ने यह कदम उठाया था। डॉक्टर के तनाव में रहने और नींद की गोलियां खाने की जानकारी भी मिली है। बुधवार को पोस्टमॉर्टम कराने के बाद पुलिस ने लाश परिजनों को सौंप दी है। डॉक्टर का परिवार नॉर्थ-वेस्ट दिल्ली के रानी बाग इलाके में रहता है। डीसीपी (साउथ) विजय कुमार के मुताबिक, मंगलवार रात करीब 11:30 बजे पुलिस को हौज खास के गौतम नगर इलाके में स्थित वाइट अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 401 में झगड़ा होने की कॉल मिली थी। जब पुलिस मौके पर पहुंची तो पता चला कि वहां रहने वाले डॉ. मनीष शर्मा (34) चौथी मंजिल पर स्थित अपने फ्लैट की बालकनी से नीचे कूद गए थे। पड़ोसी व उनके दोस्त उन्हें गंभीर हालत में एम्स ट्रॉमा सेंटर ले गए हैं। पुलिस अस्पताल पहुंची तो पता चला कि डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया है।डीसीपी के अनुसार, जांच में पता चला कि मूल रूप से राजस्थान के नागौर के रहने वाले डॉ. मनीष एम्स के कैंसर डिपार्टमेंट में सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर थे। करीब 6 महीने पहले उनकी शादी डॉ. तृप्ति चौधरी से हुई थी, जो पीजीआई चंडीगढ़ में सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर हैं और अपने पति व ससुराल वालों से मिलने दिल्ली आती रहती हैं। 
पुलिस का कहना है कि घटना वाले दिन किसी छोटी सी बात पर मनीष का पत्नी से झगड़ा हुआ था। गुस्से में कुछ दवाएं खा लीं और हार्ड ड्रिंक्स भी पी ली। झगड़े की आवाज सुनकर पड़ोसी भी वहां इकट्ठा हो गए और मनीष की पत्नी को अपने साथ ले आए। जब मनीष फ्लैट में अकेले थे, तभी अचानक वह बालकनी से नीचे कूद गए। 
वहीं, इस बारे में एम्स के अन्य रेजिडेंट डॉक्टरों का कहना है कि डॉक्टरों पर प्रेशर तो रहता ही है, यह कोई नई बात नहीं है। उन्होंने कहा कि हम अपने साथी डॉक्टरों से अपील करते हैं कि अगर किसी को भी किसी तरह की परेशानी है, तो आपस में बात करें और साइकायट्रिक डिपार्टमेंट में जाने से नहीं हिचके। 

No comments:

Post a Comment