Latest News

5 Dec 2018

बदमाशों ने कहा, रुपये नहीं मिले तो किडनी बेच देंगे : गुड़गांव

गुड़गांव। कैब में लिफ्ट देकर ट्रैवल कंपनी के मैनेजर को बंधक बनाकर गनपॉइंट पर लूटपाट की गई। चार बदमाशों ने एटीएम व क्रेडिट कार्ड का पिनकोड पूछकर 66 हजार रुपये निकलवा लिए। पर्स में रुपये न मिलने पर बदमाश मैनेजर की किडनी बेचने, आंखें निकालने और टांग तोड़ने तक की धमकी देते रहे। उन्होंने कहा कि कम से कम 50 हजार रुपये चाहिए, कैसे देगा यह सोचना तेरा काम है। पैसे नहीं मिले तो मार देंगे। मैनेजर को डराने के लिए बदमाश ने अपने मोबाइल में से एक फोटो दिखाते हुए कहा कि पिछली बार यह रुपये नहीं दे रहा था तो ऐसा हाल कर दिया। फोटो में युवक की आंख पर चोट के निशान थे। यह देख मैनेजर डर गया और पत्नी को कॉल कर रुपयों के लिए कहा। दिल्ली के आजादपुर निवासी राहुल गुप्ता ने बताया कि वह सेक्टर-49 स्थित क्विकबुकर ट्रेवल्स प्राइवेट लिमिटेड में बतौर मैनेजर जॉब करते हैं। सोमवार रात करीब 8 बजे ऑफिस से दिल्ली में घर जाने के लिए निकले। रात 9 बजे ऐटलस चौक पर पहुंचे। इसी दौरान सफेद रंग की स्विफ्ट डिजायर कार में लिफ्ट ली। कार में पहले से ही चार लोग थे। पीछे की सीट पर वह बैठे। कार चलते ही बायीं ओर बैठे युवक ने कमर पर पिस्टल लगा जान से मारने की धमकी दी। 
"एफआईआर दर्ज कर ली गई है। मामले की जांच कर कार्रवाई की जा रही है। बदमाशों की तलाश चल रही है।"-विनोद, थाना प्रभारी, सेक्टर-18
मोबाइल छीनकर सिम निकाली और मोबाइल वापस कर दिया। फिर पर्स में से बैंक के दो एटीएम व 1 क्रेडिट कार्ड निकाल लिया। धमकी देकर तीनों का कोड पूछ लिया। फिर सीट से नीचे बैठा दिया और कार में ही घुमाते रहे। इस दौरान तीन अलग-अलग जगहों से उन्होंने एटीएम व क्रेडिट कार्ड से रुपये निकाल लिए। सोहना रोड व राजीव चौक पर अलग-अलग जगहों से उन्होंने एटीएम व क्रेडिट कार्ड का प्रयोग कर खाते से रुपये निकाले। एक एटीएम से 20900, दूसरे से 29 हजार जबकि क्रेडिट कार्ड से 16 हजार रुपये कैश निकलवाए गए। देर रात करीब 12 बजे उन्हें ऐटलस चौक के पास ही उतारकर बदमाश फरार हो गए। सेक्टर-18 थाना प्रभारी विनोद ने बताया कि एफआईआर दर्ज कर ली गई है। मामले की जांच कर कार्रवाई की जा रही है। बदमाशों की तलाश चल रही है।इफ्को चौक, राजीव चौक, शंकर चौक से लगातार कैब में लिफ्ट देकर लूटपाट की वारदात हो रही हैं। दो महीने में करीब एक दर्जन घटनाएं हो चुकी हैं। 25 नवंबर की रात भी गूगल कंपनी के कर्मचारी को सेक्टर-15 एरिया में बंधक बनाकर 29 हजार रुपये एटीएम का कोड लेकर निकाल लिए गए थे। अक्टूबर महीने में सेक्टर-29 एरिया के कुक को लिफ्ट देकर बंधक बनाकर लूटपाट की गई थी। 
पत्नी व दोस्त से खाते में रुपये डलवाए 
कैब में बंधक बनाकर बदमाशों ने रुपये के लिए दबाव बनाया। रुपये नहीं मिलने पर तरह-तरह की धमकियां दी गईं। राहुल ने बताया कि उनके एक खाते में 5900 रुपये थे। बदमाशों के डर से उन्होंने पत्नी को कॉल कर इस खाते में 15 हजार रुपये डलवाए। इसके बाद आरोपित ने इसमें से 20 हजार 900 रुपये निकलवाए। फिर एक खाते में मौजूद 800 में से 500 रुपये निकाल लिए। क्रेडिट कार्ड से सोहना रोड स्थित जेएमडी मॉल से 1 हजार, 10 हजार व 5 हजार रुपये निकलवाए। फिर और रुपये मांगने लगे तो क्रेडिट कार्ड से पेटीएम में 20 हजार ट्रांसफर किए। फिर 800 रुपये वाले खाते में ये 20 हजार ट्रांसफर किए। इसी खाते में एक दोस्त से 9 हजार मंगवाए। फिर इससे 29 हजार रुपये निकलवा लिए। मैनेजर ने बताया कि आरोपितों ने कार की डिग्गी खोलकर पिछली नंबर प्लेट पर छपे नंबर को मिटाने की कोशिश की ताकि नोट न किया जा सके। फिर मोबाइल व सिम अलग-अलग वापस किए। 
जान बचाने को बातें करता रहा 
मैनेजर ने बताया कि वह जान बचाने के लिए लगातार बदमाशों से बातें कर उन्हें नॉर्मल करने का प्रयास करते रहे। बदमाशों को कहा कि घर में 5 साल की बेटी है। बेटी व पत्नी के साथ डिनर पर जाने का प्रोग्राम था। वे मेरा इंतजार कर रहे होंगे। मैं ट्रेवल कंपनी में जॉब करता हूं, कभी पासपोर्ट बनवाना हो तो मैं मदद कर सकता हूं। इस तरह की अलग-अलग बातें कर वह नॉर्मल करने का प्रयास करते रहे। 

No comments:

Post a Comment