Latest News

10 Dec 2018

दूसरे राज्यों की शादियों को जिले में नहीं मिलेगा सर्टिफिकेट : गाजियाबाद

गाजियाबाद। शादी के प्रमाण पत्र में पकड़े गए फर्जीवाड़े के बाद अब शादी रजिस्ट्रेशन के नियम में बदलाव किया गया है। नए नियम के तहत शादी के रजिस्ट्रेशन से पहले उसमें लगाए गए प्रमाण पत्रों की जांच होगी। बिना जांच के किसी भी शादी का रजिस्ट्रेशन अब नहीं होगा। इस संबंध में डीएम रितु माहेश्वरी ने सभी सब रजिस्ट्रार को निर्देश जारी किए हैं। नए नियम के तहत अब मैरेज रजिस्ट्रेशन के लिए ऑनलाइन आवेदक को मैनुअली भी शादी होने के दस्तावेज (शादी का कार्ड, फोटो) सब रजिस्ट्रार कार्यालय में देने होंगे, इसके बाद उसकी जांच कराई जाएगी। जांच में प्रमाण पत्र के सही पाए जाने के बाद ही मैरेज रजिस्टर्ड हो सकेगी। यही नहीं एआईजी स्टांप मेवालाल पटेल ने बताया कि शादी के रजिस्ट्रेशन में एक और बदलाव किया गया है। फर्जीवाड़े को देखते हुए फिलहाल अगले आदेश तक गाजियाबाद में दूसरे राज्यों के युवक युवतियों की शादी रजिस्टर्ड नहीं हो सकेगी। नए आदेश के तहत शादी तब ही गाजियाबाद में रजिस्टर्ड हो सकेगी जब युवक या युवती में से कोई गाजियाबाद या यूपी का रहने वाला हो या फिर उनकी शादी गाजियाबाद में हुई हो। इनके अलावा किसी भी स्थिति में दूसरे राज्यों के युवक-युवतियों की शादी गाजियाबाद सब रजिस्ट्रार कार्यालय में रजिस्टर्ड नहीं होगी। अभी तक दूसरे राज्यों के युवक-युवती गाजियाबाद सब रजिस्ट्रार कार्यालय में धड़ल्ले से शादी का रजिस्ट्रेशन करा रहे थे। कई शादियों में फर्जी प्रमाण पत्र लगने का मामला भी सामने आया था। इस मामले में हाल ही में पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। इसके बाद डीएम ने सख्त कदम उठाए। 

No comments:

Post a Comment