Latest News

30 Nov 2018

एसीबी टीम को देखकर हेड कॉन्स्टेबल ने झाड़ियों में फेंक दिए रुपये : गुजरात

राजकोट। गुजरात के राजकोट में बोताड़ ऐंटी करप्शन ब्यूरो की टीम घूस लेने के एक मामले में एक पुलिसकर्मी का पीछा कर रही थी। इस दौरान पुलिसकर्मी ने ऐंटी करप्शन ब्यूरो की टीम से बचने के लिए घूस में ली गई रकम रेलवे ट्रैक के किनारे झाड़ियों में फेंक दी। हो सकता है कि आप इसे किसी फिल्म की स्क्रिप्ट समझ रहे हों लेकिन यह कल्पना पर लिखी गई कोई कहानी नहीं बल्कि हकीकत है।घूस की रकम लेने के बाद बचने के तमाम प्रयासों के बावजूद अरविंद पराडवा को पकड़ लिया गया। हालांकि, एसीबी अभी भी घूस की रकम की तलाश में जुटी है, जिसे आरोपी पुलिसकर्मी ने रेलवे ट्रैक के किनारे झाड़ियों में फेंक दिया था। 
80 हजार की थी डिमांड, 75 हजार पर तय हुई थी बात 
बता दें कि पराडवा सावरकुंडला टाउन पुलिस स्टेशन में हेड कॉन्स्टेबल के रूप में कार्यरत हैं। आरोप है कि अरविंद ने असिस्टेंट सब-इन्स्पेक्टर नरेंद्रसिंह गोयल और सब-इन्स्पेक्टर पीबी चावड़ा की जगह पर 75 हजार रुपये लिए थे। गोयल और चावड़ा ने शिकायतकर्ता से उसके रिश्तेदार के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट के तहत मामला न दर्ज करने के एवज में घूस मांगी थी। शिकायतकर्ता के रिश्तेदार द्वारा कथित तौर पर प्रताड़ित होने की वजह से एक शख्स ने जहर पी लिया था।बोताड़ एसीबी के इन्स्पेक्टर बीपी गढ़ेर के मुताबिक, 'आरोपी ने पहले 80 हजार रुपये मांगे थे और बाद में घटाकर इसे 75 हजार कर दिया। पराडवा गोयल और चावड़ा की जगह पैसा लेने गया था लेकिन इससे पहले शिकायतकर्ता हमारे पास पहुंचा। जब पराडवा ने सावरकुंडला टाउन पुलिस स्टेशन के बाहर पैसा लिया तो हम उसे पकड़ने के लिए उसकी ओर दौड़ पड़े।' 
सबूत मिटाने के मामले में भी दर्ज किया गया केस 
पराडवा ने जैसे ही एसीबी अधिकारियों को देखा, वह पास के रेलवे ट्रैक की ओर भागने लगे। पराडवा को पकड़ने के दौरान उन्होंने नकदी झाड़ियों में फेंक दी। जब पराडवा को पकड़ लिया गया तो गोयल और चावड़ा पुलिस स्टेशन से भाग निकले। गढ़ेर का कहना है, 'घूस के इतर हमने पराडवा पर सबूत मिटाने के मामले में केस दर्ज किया है।'

No comments:

Post a Comment