Latest News

4 Nov 2018

विरोधियों से बोले सीएम योगी, 'उनका नाम रावण या दुर्योधन क्यों नहीं रखा गया?' : लखनऊ

लखनऊ। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किए जाने के फैसले को एक बार फिर सही ठहराते हुए अपनी सफाई दी। विपक्ष की आलोचनाओं पर चुटकी लेते हुए सीएम ने कहा कि कुछ लोगों ने प्रयागराज नाम किए जाने के फैसले पर मुझसे पूछा कि आपने नाम क्यों बदल दिया और सिर्फ नाम से क्या होता है। इस पर मैंने लोगों से पूछा कि तुम्हारे माता-पिता ने तुम्हारा नाम रावण या दुर्योधन क्यों नहीं रख दिया। अपने बयान में सीएम योगी ने कहा कि नाम का बहुत महत्व होता है और इस देश में सबसे अधिक नाम राम से जुड़ते हैं। सीएम ने कहा, 'मैं मानता हूं कि अनुसूचित जाति के लोग सबसे ज्यादा राम को अपने नाम से जोड़ते हैं।' इलाहाबाद का नाम बदलने पर सीएम ने कहा कि समाज में नाम का ही महत्व है क्योंकि यह हमें हमारे गौरवमयी इतिहास और परंपरा की याद दिलाता है। ऐसे में इलाहाबाद का नाम प्रयागराज क्यों नहीं हो सकता? बता दें कि सीएम योगी द्वारा इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किए जाने के फैसले पर बीते दिनों विपक्षी दलों ने यूपी सरकार की काफी आलोचना की थी। उत्तर प्रदेश की मौजूदा योगी आदित्यनाथ सरकार ने 18 अक्टूबर को अधिसूचना जारी करके ऐलान किया था कि इलाहाबाद को अब प्रयागराज के नाम से जाना जाएगा। इस परिवर्तन के पीछे सरकार का तर्क था कि पहले इस शहर का नाम प्रयाग ही था, जिसे मुगल शासक अकबर द्वारा बदलकर इलाहाबाद कर दिया गया था। 

No comments:

Post a Comment