Latest News

4 Nov 2018

AAP विधायक ने मनोज तिवारी को दिया धक्का : नई दिल्ली

नई दिल्ली। 14 सालों के लंबे इंतजार के बाद दिल्ली के बहुप्रतीक्षित सिग्नेचर ब्रिज का रविवार को उद्घाटन तो हो गया, लेकिन इस दौरान काफी नाटकीय घटनाएं घटीं। निर्माण का श्रेय लेने की होड़ में नेताओं ने सियासी गरिमा को तार-तार कर दिया। उद्घाटन समारोह में बिन बुलाए पहुंचे दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष और स्थानीय सांसद मनोज तिवारी को AAP विधायक अमानतुल्ला खान ने मंच से धक्का दे दिया। तिवारी को पास खड़े पुलिसवालों ने बचा लिया और वह मंच से गिरते-गिरते बचे। हजारों की भीड़ के सामने जब यह वाकया हुआ, उस वक्त दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भाषण दे रहे थे। तिवारी ने कहा है कि वह अमानतुल्ला के खिलाफ FIR दर्ज कराने जा रहे हैं। इससे पहले तिवारी ने ब्रिज के उद्घाटन से पहले हंगामा काटा था और BJP-AAP समर्थकों के बीच भिड़ंत हो गई थी।ब्रिज के उद्घाटन के बाद जब केजरीवाल भाषण दे रहे थे, उस दौरान मनोज तिवारी मंच के पास ही खड़े थे। बीजेपी कार्यकर्ता उनके समर्थन में नारे लगा रहे थे। तभी AAP विधायक अमानतुल्ला ने तिवारी को धक्का दिया। इसके बाद तिवारी के समर्थकों ने भी उनके खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। दोनों तरफ के कार्यकर्ताओं ने अपशब्दों का भी इस्तेमाल किया। इस हंगामे के बावजूद केजरीवाल ने अपना भाषण जारी रखा।सीएम केजरीवाल ने कहा, 'देश के लोगों को तहेदिल से बधाई। पहले दिल्ली को लालकिले और कुतुब मीनार के नाम से जाना जाता था, अब इसे सिग्नेचर ब्रिज के लिए भी जाना जाएगा। मुझे उम्मीद है कि बाहर से कोई भी टूरिस्ट भारत आएगा तो वह सिग्नेचर ब्रिज देखने जरूर आएगा। यह 154 मीटर ऊंचा ब्रिज है।' दरअसल स्थानीय सांसद और दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी 'बिना निमंत्रण' के उद्घाटन स्थल पर पहुंचे। इस दौरान बीजेपी और AAP के कार्यकर्ता एक दूसरे के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। उद्घाटन स्थल पर धक्कामुक्की भी देखने को मिली, जिसे पुलिस ने रोकने की कोशिश की। तिवारी ने जहां आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं और पुलिस पर धक्कामुक्की और बदसलूकी का आरोप लगाया है, वहीं AAP ने तिवारी और उनके समर्थकों पर मारपीट और हुड़दंग का आरोप लगाया है। हालांकि तिवारी का कहना है कि उन्हें निमंत्रण दिया गया था। 
तिवारी का पुलिसवालों पर भी आरोप, दिल्ली पुलिस की सफाई 
उद्घाटन से पहले मनोज तिवारी का भी एक विडियो सामने आया, जिसमें वह किसी शख्स को मुक्के से मारने की कोशिश करते दिख रहे हैं। इस वाकये को लेकर तिवारी का कहना है कि AAP कार्यकर्ताओं के साथ-साथ वहां मौजूद पुलिसवालों ने भी उनसे धक्कामुक्की और बदसलूकी की। बीजेपी नेता ने कहा, 'पुलिस के जिन लोगों ने मुझसे धक्का-मुक्की की है, उनकी शिनाख्त (पहचान) हो गई है। मैं इन सबको पहचान चुका हूं और 4 दिन में इनको बताऊंगा कि पुलिस क्या होती है।' वहीं, दिल्ली पुलिस ने पुलिसकर्मियों पर लगे आरोपों को खारिज किया है। दिल्ली पुलिस के जॉइंट सीपी ने बयान जारी कर कहा है कि ड्यूटी पर मौजूद कर्मचारियों ने अपना काम किया। जब वहां नारे लगने लगे तो पुलिस ने हिंसा को रोका। 
अमानतुल्ला पर केस करेंगे तिवारी 
बीजेपी का कहना है कि AAP नेता अमानतुल्ला खान ने अपशब्दों का इस्तेमाल किया और तिवारी को धक्का दिया। तिवारी ने कहा है कि वह अमानतुल्ला के खिलाफ FIR दर्ज कराएंगे। उन्होंने कहा कि AAP विधायक की जमानत रद्द होनी चाहिए। मनोज तिवारी ने कहा है कि धक्का देने से पहले अमानतुल्ला ने किसी से बातचीत की थी। उनका कहना है कि सिग्नेचर ब्रिज का काम दोबारा शुरू करने में उन्होंने मदद की इसके बावजूद उन्हें उद्घाटन समारोह में निमंत्रण नहीं दिया गया। तिवारी ने उद्घाटन कार्यक्रम में नहीं बुलाए जाने को लेकर नाराजगी जताई थी और यह कहते हुए केजरीवाल सरकार पर निशाना साधा था कि वह मुख्यमंत्री का स्वागत करने के लिए कार्यक्रम स्थल पर मौजूद रहेंगे जो रविवार को पुल का उद्घाटन करने वाले हैं। 

No comments:

Post a Comment