Latest News

5 Oct 2018

विभिन्न मांगो को लेकर हसदेव एवं जमुना कोतमा क्षेत्र में मजदूर संघो ने की हड़ताल : अनूपपुर


सुमिता शर्मा,(अनूपपुर)। भारतीय खदान मजदूर संघ जमुना कोतमा क्षेत्र एवं हसदेव क्षेत्र के विभिन्न मांगो को लेकर 4 अक्टूबर को हसदेश क्षेत्र, जमुना कोतमा क्षेत्र के मीरा खदान, गोविंदा कॉलरी, नारायण इंकलाईन, 7/8, 9/10, हरद दैखल मे हडताल का असर देखा गया। बीएमएस ने अपने मांग पत्र मे बताया कि भारत सरकार अध्यादेश के द्वारा एम्प्लाईमेन्ट एक्ट मे अधिसूचित किए गए फ्क्सिड टर्म एम्प्लाएमेंट के प्रावधान वापस करे, कामार्सियल माइनिंग के इश्यू पर मंत्रालय स्तर पर हुई वार्ता के निर्णय अनुसार प्रावधान सुनिश्चित करने हेतु गठित कमेटी की बैठके कर अविलंब कार्यवाही किए जाए, कास्ट करने के नाम पर कोल इंडिया की सभी कंपनियों के रेवेन्यू बजट मे की गई कटौती के फलस्वरूप खदानो को 365 दिन संचालन के बजाय 300 दिन संचालन किए जाने से कोल इंडिया का उत्पादन 25 प्रतिशत से ज्यादा प्रभावित होगा, जिसका ठीकरा मजदूरो के सिर पर फोड जाएगा तथा कोल इंडिया को सुनियोजित ढंग से बदनाम किया जाएगा अत: कास्ट कट के नाम पर रेवेन्यू बजट मे गई कटौती को अविलंब वापस लिया जाए, कोयला उद्योग कार्यरत रिटायर कर्मियो को मार्च 2018 के पूर्व भारत सरकार के कार्मिक मंत्रालय के आदेश के अनुसार 20 लाख रूपए का उत्पादन दिया जाए, जेबीसीसीआई 10 में तय निर्णयो के अनुसार कर्मचारियों के कैरियर ग्रोथ के संबंध मे अविलंब बैठके कर उचित निर्धारण किया जाए, आश्रितो को रोजगार एवं भूअर्जन के तहत नौकरी प्राप्त कर्मचारियों को उनके क्वालिफिकेशन के अनुसार पदस्थापना, माइनिंग एक्टीविटीज मे लगे ठेका मजदूरो वेतन आदि पुनरीक्षण कर अविंलब लागू किए जाने, स्टैन्डडाइजेशन कमेटी की बैठक मे हुए निर्णय के अनुसार सुपर वाईजनो को मिलने वाले चार्ज एलाउन्स को ओ टी सीलिंग से परिधि से अलग कर भुगतान सुनिश्चित किए जाने, अंडर ग्राउण्ड खदानो को बंद करने के प्रस्तावो को विराम लगाने तथा अंडर ग्राउण्ड खदानो का आधुनिकीकरण एवं मेके नाईजेशन किए जाने, हसदेव क्षेत्र मे बीएमएस के 1800 सदस्य है, हसदेव क्षेत्र मे राजनगर ओसीएम आरओ कोरजा रामनगर बहेराबांध, बिजरी, सोमना, हल्दीबाडी, जेकेडी, कोरजा, कपिलधारा मे बीएमएस द्वारा हडताल पूरी तरह से सफल देखा गया। हडताल मे शामिल आनंद प्रसाद सिंह, अशोक माली, उपेन्द्र सिंह, पंकज उपाध्याय, राधेश्याम सिंह, भगत सिंह, अनुग्रह नारायण सिंह, विनायक गुप्ता, मिथिलेश सिंह, नरेन्द्र बहादुर सिंह, कुलजीत सिंह, मिथिलेश कुमार सिंह, बजरंगी, सिद्धनाथ सिंह, संतोष कुमार सिंह, बांके बिहारी शामिल रहे। 

No comments:

Post a Comment