Latest News

30 Oct 2018

एचडीएफसी बैंक में नौकरी दिलाने के नाम पर 'बंटी' और 'बबली' ने लोगों को ठगा : गुड़गांव

गुड़गांव। एचडीएफसी बैंक में नौकरी दिलाने के नाम पर एक युवक और उसकी पत्नी (बंटी और बबली) ने एक अन्य साथी के साथ मिलकर बेरोजगार युवकों को लाखों का चूना लगा दिया। सभी से हजारों रुपये अडवांस में लिए गए। तय समय में नियुक्तिपत्र भी दिए गए। जब ये लोग नियुक्ति पत्र लेकर बैंक में पहुंचे तो पता चला कि बैंक ने वकेंसी ही नहीं निकाली है। इसके बाद लोग दंपती के पास गए तो दोनों फरार थे। पुलिस ने पति-पत्नी सहित तीन के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। सेक्टर 53 थाना पुलिस को दी शिकायत में गॉल्फ कोर्स रोड स्थित एचडीएफसी बैंक के वाइस प्रेजिडेंट एचआर भारती सोनी ने बताया कि मार्च 2017 में गुड़गांव के अलावा दिल्ली व एनसीआर से 65 युवक और युवती बैंक पहुंचे। हर दिन ये लोग आते रहे। इनके पास उनके बैंक के नियुक्ति पत्र थे। किसी ने इनको फर्जी नियुक्ति पत्र दिए थे। इसके बाद पुलिस में शिकायत दी गई।इन युवक व युवतियों से सिक्यॉरिटी मनी के तौर पर 25 से 30 हजार रुपये लिए गए। मार्च 2017 से लेकर अगस्त 2018 तक यह मामला चलता रहा। इस पूरे मामले में मास्टर माइंड रोहित कुमार उर्फ अमित चौधरी व उनकी पत्नी कोमल कुशवाह है। दोनों दिल्ली के समसपुर के रहने वाले हैं जबकि उनका एक साथी विशाल पांडे है, जो यूपी के गाजियाबाद का रहने वाला है। 
पुलिस प्रवक्ता सुभाष बोकन ने बताया कि पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इस रैकेट का खुलासा बैंक की एक एंप्लॉयी गीतांजली बग्गा के रेफरेंस चेक के दौरान हुआ बैंक की पुलिस शिकायत के मुताबिक, बग्गा ने अक्टूबर 2017 में बतौर असिस्टेंट मैनेजर बैंक जॉइन किया था। रेफरेंस चेक के दौरान पता चला कि गीतांजली की मदद ऐडेको कंसल्टेंसी नाम की कंपनी कर रही थी। नियुक्ति प्रकिया के दौरान इस कंपनी ने फर्जी सैलरी स्लिप, एक्सपीरियंस सर्टिफिकिट और अन्य दस्तावेज जमा कराए। इंटरनल जांच में बग्गा ने बताया कि उन्होंने ऐडेको एजेंसी चलाने वाले अमित चौधरी को 60,000 रुपये दिए थे। जांच में यह भी सामने आया कि ऐडेको के अलावा कुछ दस्तावेजों में लोटस कंसल्टेंसी और अस्पायर कंसल्टेंसी के भी नाम थे।पुलिस कंप्लेंट के मुताबिक, नोएडा सेक्टर 135 स्थित बैंक की ब्रांच में मैनेजर सत्येंद्र पाल ने भी अपने सिलेक्शन के लिए ऐडेको को 1.45 लाख रुपये दिए थे। 

No comments:

Post a Comment