Latest News

24 Oct 2018

लोकायुक्त पुलिस ने दो लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए एसडीएम को किया गिरफ्तार : मध्य प्रदेश

जबलपुर। लोकायुक्त पुलिस जबलपुर के दस्ते ने बुधवार को नरंसिहपुर जिले में गोटेगांव के एसडीएम को खदान आवंटन के लिये एनओसी जारी करने की एवज में एक ठेकेदार से दो लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।लोकायुक्त पुलिस के उपाधीक्षक दिलीप झरबड़े ने बताया कि गोटेगांव के एसडीएम आर के वंशकार को सड़क निर्माण के ठेकेदार सुरेन्द्र राय की शिकायत पर दो लाख रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि लोकायुक्त पुलिस के दल को तलाशी के दौरान रेस्ट हाऊस स्थित एसडीएम के कमरे से 2,65,300 रुपये की नकदी रिश्वत की राशि से अलग भी बरामद हुई है।झरबड़े ने बताया कि गोटेगांव निवासी सुरेन्द्र राय पेशे से ठेकेदार हैं। उन्हें प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत नरंसिहपुर जिले में 18 सड़कों के निर्माण का ठेका मिला है। मुरम-मिट्टी की खदान के लिए उन्होंने आवेदन किया था और वंशकार ने चार खदानों के आवंटन के लिए एनओसी जारी करने की एवज में दो लाख रूपये रिश्वत मांगी थी। इस संबंध में राय ने लोकायुक्त से शिकायत की।लोकायुक्त पुलिस ने शिकायत पर कार्रवाई करते हुए एसडीएम को रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ने की योजना तैयार की और निर्धारित योजना के मुताबिक राय को झोतेश्वर स्थित सरकारी रेस्ट हाऊस के उस कमरे में भेजा गया, जहां एसडीएम ठहरे हुए थे।
उन्होंने बताया कि एसडीएम ने राय से जैसे ही रिश्वत की रकम लेकर रखी, लोकायुक्त की टीम ने उसे दबोच लिया। रिश्वत के दो लाख रुपये के अलावा तलाशी के दौरान एसडीएम के कमरे से 2,65,000 रुपये की नकदी भी बरामद हुई हैं।वंशकार वर्ष 1986-87 में नायब तहसीलदार के पद पर भर्ती हुआ था और पदोन्नति कर अतिरिक्त क्लेक्टर के पद पर पहुंच गया था और वह इस समय नरंसिहपुर जिले के गोटेगांव में एसडीएम के तौर पदस्थ थे। लोकायुक्त पुलिस एसडीएम की चल तथा अचल संपत्ति के संबंध में जानकारी एकत्र कर रही है।उन्होंने बताया कि लोकायुक्त पुलिस ने वंशकार के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। लोकायुक्त पुलिस ने आरोपी को आज अदालत में पेश किया।

No comments:

Post a Comment