Latest News

21 Oct 2018

जीडीए की लापरवाही से नाले में गिरी बच्ची, मौत : गाजियाबाद

गाजियाबाद। जीडीए की लापरवाही के कारण दशहरा के दिन एक मां का आंचल सूना हो गया। इंदिरापुरम की पिनाकल सोसायटी के बाद शुक्रवार रात करीब 10:30 बजे नाले में गिरने से 11 साल की प्रियंका की मौत हो गई। बच्ची के नाले में गिरने की सूचना मिलने के बाद पुलिस और एनडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया, लेकिन 14 घंटों की मशक्कत के बाद भी प्रियंका को नहीं बचाया जा सका। पानी का वेग इतना तेज था कि प्रियंका की लाश घटनास्थल से 20 मीटर की दूरी पर मिली है। इस दौरान पुलिस, एनडीआरएफ और फेडरेशन ऑफ एओए के आला अधिकारी और पदाधिकारी मौजूद रहे, लेकिन जीडीए का एक भी अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा। पीड़ित पिता संतोष ने बताया कि वह अपनी बेटी के साथ शुक्रवार रात रामलीला ग्राउंड से मेला देखकर लौट रहे थे। सड़क पर भीड़ अधिक थी इसलिए प्रियंका ने ही सड़क किनारे चलने को कहा था। जैसे ही वह पिनाकल टावर के पास दीवार के पीछे पाइप पर चढ़े उनकी बेटी का पैर फिसला और नाले में गिर गई। बेटी को बचाने के लिए भी नाले में कूदे, लेकिन बहाव अधिक होने के कारण वह प्रियंका का नहीं बचा सके और खुद जैसे-तैसे बाहर निकल आए। सड़क पर भीड़ को नियंत्रित करने के लिए खड़े सिपाही से उन्होंने मदद मागी, जिसके बाद पुलिस की टीम ने मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। संतोश ने बताया कि प्रियंका उनकी सबसे बड़ी बेटी थी, उन्हें खुले नाले का थोड़ा भी पता होता तो वह इस रास्ते से आते ही नहीं। 
मुझे रात 10:40 पर घटनाक्रम की सूचना हुई। हमने तुरंत मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया। घबराहट की वजह से मृतक बच्ची के पिता बोलने की स्थिति में नहीं थे, उसके बाद एनडीआरएफ की टीम को बुलाकर रेस्क्यू शुरू किया गया। शनिवार दोपहर 12:30 बजे बच्ची की बॉडी निकाल ली गई। बॉडी पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दी गई है। परिवार की ओर से यदि कोई लिखित शिकायत मिलेगी तो पुलिस कार्रवाई करेगी। -रवि कुमार, सीओ, इंदिरापुरम 

No comments:

Post a Comment