Latest News

23 Oct 2018

सीबीआई की लड़ाई से कमजोर होगी भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग : नई दिल्ली

नई दिल्ली। नरेंद्र मोदी की अगुवाई में बीजेपी 2014 में भ्रष्टाचार को बड़ा मुद्दा बनाकर सत्ता में आई थी। करप्शन के जिन मुद्दों को लोगों के बीच उठाकर उसने यूपीए सरकार पर हमला किया था, उनमें से अधिकतर मामले अभी जांच के अंतिम चरण में हैं। ऐसे में सीबीआई में चल रही नंबर एक बनाम नंबर दो की लड़ाई से इन केस पर असर पड़ना तय है। दूसरी ओर विपक्ष को भी राकेश अस्थाना के बहाने सरकार की नियत पर सवाल उठाने का मौका मिल गया है। बिहार में तेजस्वी यादव ने तो लालू प्रसाद यादव की जेल को राजनीतिक साजिश तक बता दिया है। बता दें कि अस्थाना ने ही लालू प्रसाद से जुड़े केस की जांच की थी। कांग्रेस सहित तमाम विपक्षी दल सीबीआई जंग के बहाने सीधे पीएम मोदी को घेर रहे हैं। 
राकेश अस्थाना ईमानदार बताने वाला विडियो वायरल 
इस बीच सोशल मीडिया पर राकेश अस्थाना से जुड़ा एक विडियो वायरल हुआ, जिसमें गुजरात काडर के इस आईपीएस अधिकारी को सरदार पटेल, स्वामी विवेकानंद और नेताजी सुभाष चंद्र बोस से प्रभावित ईमानदार पुलिस अधिकारी के रूप में दिखाया गया है। सोशल मीडिया पर अस्थाना के समर्थन और विरोध में खूब बहस देखने को मिल रही है। 
ईडी के अंदर भी विवाद को निबटाने में जुटी 
सीबीआई मामले में परेशानी झेलने के बाद अब केंद्र सरकार दूसरी जांच एजेंसी ईडी के अंदर चल रही खींचतान को जल्द से जल्द समाप्त करने में जुट गई है। सूत्रों के अनुसार, सरकार ईडी में नए डायरेक्टर की नियुक्ति भी जल्द कर सकती है। मालूम हो कि ईडी में भी अधिकारियों के बीच विवाद हुआ था और इससे जुड़ा मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया था। 
गैरकानूनी हस्तक्षेप कर रहे पीएम : कांग्रेस 
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सवाल किया कि क्या प्रधानमंत्री गैरकानूनी और असंवैधानिक तरीके से सीबीआई व रॉ के अधिकारियों को अपने घर पर बुलाकर हिदायत दे सकते हैं? क्या वह भ्रष्टाचार के मामले की चल रही जांच को प्रभावित करना चाहते हैं? सुरजेवाला ने कहा कि पूरा देश चाहता है कि सीबीआई के आला अधिकारियों पर भ्रष्टाचार के जो गंभीर आरोप लगे हैं उनकी निष्पक्ष जांच हो, लेकिन प्रधानमंत्री गैरकानूनी और असंवैधानिक तरीके से हस्तक्षेप कर रहे हैं। वहीं, माकपा ने सीबीआई में उपजे विवाद के लिए बीजेपी और पीएम मोदी को जिम्मेदार ठहराया है। पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा है कि बीजेपी और मोदी के एक चहेते अफसर की वजह से देश की शीर्ष जांच एजेंसी की छवि पर सवाल खड़े हो रहे हैं। बीएसपी ने कहा है कि सीबीआई पर लगे इस धब्बे का मिटना मुश्किल होगा। 

No comments:

Post a Comment