Latest News

15 Oct 2018

इंडस्ट्रीज ऐरिया की बदहाली : फतेहपुर


अमित कुमार सिंह,(फतेहपुर)। उत्तर प्रदेश फतेहपुर जिले के मलवा ब्लाक क्षेत्र के सौरा में स्थिति फेक्ट्रियो के ऊपर अगर नज़र दौड़ाई जाए तो यहां की बदहाली खुद तराने गाते नज़र आ रही हैं।एक तरफ सरकार स्वच्छता को लेकर संजीदा हैं। तो दूसरी तरफ यहां चारो तरफ गंदगी ने अपना मकड़ जाल फैला रखा हैं।यही नही यहां पर कालोनियों में रहने वाले वर्करों के हाल बुरे हैं ।पीने के पानी से लेकर   जाने वाली रासताये खस्ताहाल हैं।कालोनियों के अगल बगल कूड़े के ढेर और लंबी लंबी उगी घासे घमबीर बीमारियो को दावत देती नज़र आ रही हैं ।यहां पर इन काम करने वाले मजदूरों की सुनने वाला कोई नही लक्ष्मी कॉटन मील में काम कर रहे श्रमिको के हाल बद से बेबत्तर हैं।पूरे क्षेत्र में फॅक्टररियो से निकलने वाला कूड़ा रोड किनारे किसी सजावट की तरह देखने को मिलता हैं।नालो में बदबूदार पानी ।जिसकी दुर्गंध से इंसान तो क्या जानवर भी निकलना गवारा नही करेंगे मगर इन सब हालातो से समझौता कर यह गैर जनपदो से आये श्रमिक अपनी बदहाली पर आंसु बहा रहे हैं।जिनकी फिक्र न तो मिल प्रशासन को हैं ।और न ही जिला प्रशासन को जब कि देश के प्रधान मंत्री ने खुद झाड़ू लगा कर और कूड़ा उठा कर पूरे देश को स्वच्छता का संदेश दिया मगर यहां पर सब अलग थलग देखने को  मिल रहा हैं।हद तो हो गयी सरकार ने यहां पर अंग्रेजी शराब की दूकान को लाइसेंस दे रखा हैं।जो कि इन गरीब श्रीमिको की मिलने वाली पगार डकारने का काम कर रही हैं।सब से बड़ा सवाल यह उठता हैं ।कि इतनी खामियों के बाद भी मिल प्रशासन और जिला प्रशासन की आंखे बंद हैं ।

No comments:

Post a Comment