Latest News

25 Oct 2018

यूनिवर्सिटी के दो गार्डों को छात्रों को गांजा बेचने के आरोप में रंगे हाथ किया गिरफ्तार : नोएडा

ग्रेटर नोएडा। नॉलेज पार्क कोतवाली पुलिस ने ऐमिटी यूनिवर्सिटी के दो गार्डों को छात्रों को गांजा बेचने के आरोप में रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार गार्डों से पुलिस ने ढाई किलो गांजा बरामद किया है। आरोपी गार्ड 20 हजार रुपये किलो के रेट से तस्करों से गांजा खरीदते थे। इसके बाद 200 रुपये प्रति पुड़िया के हिसाब से छात्रों को बेचते थे। मामले में मुख्य तस्कर अभी भी पुलिस की गिरफ्त से फरार है। एनबीटी ने नॉलेज पार्क में में नशे के कारोबार को लेकर प्रमुखता से खबर प्रकाशित की थी। नॉलेज पार्क कोतवाली पुलिस को पिछले कुछ दिनों से विभिन्न शिक्षण संस्थानों में बड़े स्तर पर नशे का कारोबार चलने की सूचनाएं मिल रही थीं। बताया जा रहा था कि नॉलेज पार्क में मादक पदार्थों की बिक्री करने वाले गैंग ने अपना जाल फैलाया हुआ है। एक फोन कॉल पर गांजा आदि मादक पदार्थ छात्रों तक पहुंचे रहे हैं। इस गिरोह को पकड़ने के लिए नॉलेज पार्क कोतवाली पुलिस ने सिविल ड्रेस में अपने पुलिसकर्मियों को लगाया हुआ था। इसी बीच मंगलवार देर रात सूचना मिली कि नॉलेज पार्क स्थित ऐमिटी यूनिवर्सिटी कैंपस के गेट पर तैनात दो गार्ड छात्रों को 200 रुपये प्रति 4 ग्राम गांजे की पुड़िया बेच रहे हैं। ऐसे में पुलिस ने करीब 12 बजे दोनों गार्डों को रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया। 
"नशे के कारोबार की सूचना मिलने पर कई दिनों से सिविल ड्रेस में पुलिसकर्मियों को लगाया गया था। मंगलवार रात करीब 12 बजे ऐमिटी यूनिवर्सिटी के कैंपस में तैनात दोनों सुरक्षा गार्डों को गिरफ्तार कर लिया गया। दोनों से ढाई किलो गांजा बरामद भी किया गया है।"-अरविंद पाठक, कोतवाली प्रभारी नॉलेज पार्क
गिरफ्तार किए गए गार्डों की पहचान संतोष सिंह निवासी गुर्जरपुर व नवीन मिश्रा निवासी सुतियाना के रूप में की गई है। दोनों लंबे समय से ऐमिटी यूनिवर्सिटी कैंपस की सुरक्षा में तैनात थे। पूछताछ में पता चला है कि कोई बड़ा गैंग उन्हें 20 हजार रुपये किलो में यहीं पर गांजा उपलब्ध करता था। ये गार्ड छोटे पैकेट में नॉलेज पार्क के विभिन्न शिक्षण संस्थानों के छात्रों को बेचते थे। इस लिए अकसर रात में ही गार्ड ड्यूटी करते थे। पुलिस के अनुसार दोनों गार्ड लंबे समय से छात्रों को गांजा बेचने का यह कारोबार करते थे। एक नामचीन यूनिवर्सिटी कैंपस की सुरक्षा में गार्ड के रूप में तैनात होने के चलते उनकपर कोई शक नहीं करता था। 

No comments:

Post a Comment