Latest News

19 Oct 2018

दिल्ली के पहले मुख्यमंत्री की बहू का 'ढिंढोरा' पिटवाने का आदेश : क्राइम

नई दिल्ली। दिल्ली के पहले कांग्रेसी मुख्यमंत्री चौधरी ब्रह्मप्रकाश की बहू अनुराधा चौधरी के खिलाफ साकेत की एक कोर्ट ने 'ढिंढोरा' पिटवाने का आदेश दिया है। उन पर फर्जीवाड़े से जमीनें बेचकर ठगी करने का आरोप है। कोर्ट ने उनके खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया हुआ है, लेकिन पुलिस ने कोर्ट को बताया है कि वह अपने पते से लापता हैं। इसलिए कोर्ट में उनके खिलाफ सीआरपीसी की धारा-82 के तहत भगौड़ा घोषित करने की कार्यवाही शुरू कर दी गई है। उसकी प्रक्रिया के तहत कोर्ट ने उनके घर के मेन गेट पर 82 की कार्यवाही का नोटिस चस्पा करने का आदेश दिया है। साथ ही उनके बारे में एरिया में पब्लिक अनाउंसमेंट कराने और अखबारों में विज्ञापन देने का निर्देश भी जारी किया है। इस कार्यवाही में कोई ढिलाई न बरती जाए, इस वास्ते अदालत ने कहा है कि आरोपी के घर पर नोटिस चस्पा करने के फोटोग्राफ्स अदालत में पेश किए जाएं। साथ ही सोसायटी के दो सम्मानित लोगों की गवाही भी ली जाए, जिससे कि यह पुष्टि हो सके कि उपरोक्त कार्यवाही सही तरीके से पूरी गई है। यह निर्देश मेट्रोपॉलिटन मैजिस्ट्रेट की कोर्ट ने जारी किए हैं। इस बाबत 1 दिसंबर तक रिपोर्ट मांगी गई है।इस मामले में शिकायतकर्ता पक्ष के अधिवक्ता ने कोर्ट को बताया कि अनुराधा चौधरी के खिलाफ कड़कड़डूमा की एक कोर्ट में भी चीटिंग, जालसाजी, षड्यंत्र व अन्य दफाओं में एक केस दाखिल है। उसमें भी सीआरपीसी की धारा 82 के तहत भगौड़ा घोषित करने की कार्यवाही चल रही है। उसके बावजूद आरोपी पुलिस जांच में सहयोग नहीं कर रही हैं। 
साकेत कोर्ट में दाखिल केस में भी जांच अधिकारी ने यही रिपोर्ट दी है कि आरोपी घर से लापता हैं। इसलिए उनके खिलाफ गैरजमानती वारंट तामील नहीं हो रहा है। बता दें कि साकेत कोर्ट से 29 सितंबर को गैर जमानती वारंट जारी हुआ था। जांच अधिकारी द्वारा उन्हें लापता बताए जाने पर साकेत कोर्ट ने भी भगौड़ा घोषित करने की कार्यवाही शुरू कर दी है। इस सिलसिले में पुलिस का कहना है कि आरोपी अनुराधा चौधरी के सरिता विहार स्थित घर पर कई बार दबिश दी गई, लेकिन वह घर पर नहीं मिलीं। उनके ऊपर एक कंपनी बनाकर फर्जीवाड़े से करोड़ों की जमीन बेचने का आरोप है। कड़कड़डूमा कोर्ट में चल रहे केस में शाहदरा निवासी विकास भारद्वाज ने साल 2015 में ज्योति नगर थाने में शिकायत दर्ज करवाई कि अनुराधा व अन्य आरोपियों ने फर्जी दस्तावेजों पर एक जमीन का सौदा करके सवा करोड़ रुपये ठग लिए। 

No comments:

Post a Comment