Latest News

5 Oct 2018

आरोपी सिपाहियों के समर्थन में यूपी पुलिस के सिपाही, काली पट्टी बांधकर जताई 'नाराजगी' : विवेक मर्डर केस


लखनऊ। ऐपल के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी प्रशांत चौधरी पर कार्रवाई के विरोध में यूपी पुलिस के सिपाहियों के बगावती सुर कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। डीजीपी की चेतावनी के बावजूद शुक्रवार को विभिन्न थानों के सिपाही 'ब्लैक डे' मना रहे रहे हैं। वहीं यूपी पुलिस ने ऐसे सिपाहियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है। शुक्रवार को पुलिस से जुड़े कुछ संगठनों द्वारा इलाहाबाद और अन्य जगहों पर प्रस्तावित आंदोलन से एक दिन पहले गुरुवार को फेसबुक पर आपत्तिजनक विडियो डालने वाले एटा के कॉन्स्टेबल सर्वेश चौधरी को निलंबित कर दिया गया था। एटा के कॉन्स्टेबल सर्वेश पर कार्रवाई के आदेश के बाद डीजीपी के निर्देश पर राज्य के तमाम आला अधिकारी हर जिलों में सिपाहियों से संवाद कर रहे थे। लेकिन शुक्रवार को राजधानी लखनऊ के गुड़म्बा, नाका, अलीगंज सहित एसएसपी ऑफिस तक में यूपी पुलिस के सिपाही बांह पर काली पट्टी बांधे दिखाई दिए। 
इस मामले में लखनऊ के एसपी कलानिधि नैथानी के कार्यालय की ओर से उनके वीआईपी मूवमेंट में बिजी होने की बात कहकर किनारा कर लिया गया। राजधानी के अलावा कई अन्य जिलों में भी ऐसा ही विरोध प्रदर्शन होने की सूचना है। आपको बता दें कि रक्षक कल्याण ट्रस्ट द्वारा संचालित पुलिस सिपाहियों के संगठन अराजपत्रित पुलिस वेलफेयर असोसिएशन ने 5 अक्टूबर को काला दिवस मनाने की घोषणा की थी। इसके अलावा असोसिएशन ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर आरोपियों पर से मुकदमी हटाने की मांग करते हुए कहा था कि यदि उनकी मांगें पूरी नहीं हुईं तो बड़े स्तर पर आंदोलन किया जाएगा।वहीं दूसरी ओर यूपी पुलिस ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं। पुलिस द्वारा जारी बयान में कहा गया है, 'पुलिसकर्मियों द्वारा काली पट्टी बांधे जाने की सच्चाई समय एवं उद्देश्य के बारे में संबंधित पुलिस अधिकारियों को जांच कर कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं। सोशल मीडिया पर चल रहीं कुछ तस्वीरें पुरानी और मॉर्फ्ड भी हैं।' 
पुलिस ने अराजपत्रित पुलिस वेलफेयर असोसिएशन के अध्यक्ष और पुलिस सेवा से बर्खास्त बृजेन्द्र सिंह तथा अविनाश पाठक को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा एक अन्य पुलिसकर्मी सर्वेश चौधरी को निलंबित कर विभागीय कार्रवाई की जा रही है। इन सभी पर सोशल मीडिया के माध्यम से पुलिसकर्मियों में असंतोष फैलाने का आरोप है। विवेक तिवारी मर्डर केस में आरोपी प्रशांत और संदीप की आर्थिक मदद के लिए सोशल मीडिया पर प्रशांत की पत्नी राखी मलिक का अकाउंट नंबर भी वायरल हुआ है। यूपी पुलिस के कई सिपाई उस खाते में लगातार पैसे जमा कर रहे हैं और अन्य लोगों से भी आर्थिक मदद करने की अपील कर रहे हैं। 

No comments:

Post a Comment