Latest News

26 Sep 2018

अंधविश्वास दूर करने के लिए श्मशान में दी बेटे के बर्थडे की पार्टी : महाराष्ट्र


औरंगाबाद। महाराष्ट्र अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति (एमएएनएस) के परभणी जिलाध्यक्ष ने अपने बेटे की बर्थडे पार्टी का आयोजन श्मशान में किया। जिन्तुर के श्मशान में हुई इस पार्टी में नॉनवेज खाना परोसा गया। हालांकि महाराष्ट्र अंधश्रद्धा निर्मलन समिति की ओर से अपने जिलाध्यक्ष की इस पार्टी का विरोध किया गया है।मामला 19 सितंबर का है। समिति के जिलाध्यक्ष पंधारीनाथ शिंदे ने अपने बेटे की बर्थडे पार्टी का आयोजन श्मशान घाट में किया। इसमें कई लोग शामिल हुए। आयोजन में लोगों को नॉनवेज खाना परोसा गया।इस आयोजन का मामला तब सामने आया जब सोमवार को कुछ स्थानीय लोग श्मशान पहुंचे और उन्होंने पूरे श्मशान में गोमूत्र का छिड़काव किया और मंत्र पढ़कर स्थान को पवित्र किया।इधर पंधारीनाथ ने कहा कि उन्होंने श्मशान में बर्थडे पार्टी का आयोजन करने के लिए स्थानीय प्रशासकों और पुलिस की अनुमति ली थी। उन्होंने कहा कि अपने बेटे की बर्थडे पार्टी श्मशान में मनाने के पीछे उनका मकसद सिर्फ इतना था कि लोगों को यह बताया जा सके कि श्मशान में कोई आत्माएं नहीं रहती हैं।पंधारीनाथ ने कहा कि लोगों में भ्रम है कि श्मशान में भूतप्रेत रहते हैं इसलिए वहां पर लोग कुछ भी नहीं खाते हैं। ऐसा कुछ नहीं होता है यह लोगों का सिर्फ भ्रम है। उनकी पार्टी मे लगभग 200 लोग शामिल हुए थे। वे लोग शाकाहारी और मांसाहारी दोनों थे और इसलिए उन्हें दोनों तरह का खाना परोसा गया। 
महाराष्ट्र अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के कार्यकारी अध्यक्ष अविनाश पाटिल ने अपने जिलाध्यक्ष के इस कृत्य पर पल्ला झाड़ा है। उन्होंने कहा कि समिति का इस आयोजन से कोई लेना-देना नहीं है। इस तरह का कार्य अति उत्साह में किया गया समिति अंधविश्वास के खिलाफ काम करती है लेकिन श्मशान में की गई यह पार्टी समिति के आदर्शों के खिलाफ है।श्मशान में बर्थडे पार्टी के आयोजन में नॉनवेज परोसे जाने की खबर फैलते ही स्थानीय लोग कुछ नेताओं और सोशल वर्कर्स के साथ मंगलवार को थाने पहुंचे। उन लोगों ने पुलिस से जांच की मांग की। इधर जिन्तुर बीजेपी के अध्यक्ष राजेश वट्टमवार ने पंधारीनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। पुलिस इंस्पेक्टर सोनाजी अमले ने कहा कि उन्हें अखबारों में छपी खबरों की कटिंग के साथ शिकायत की गई है। मामला दर्ज कर लिया गया है। शिकायत में एक दर्जन लोगों के नाम हैं। जांच के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

No comments:

Post a Comment