Latest News

9 Sep 2018

बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री व दवाई की समुचित व्यवस्था न होने से रोष : अमृतपुर


अमरजीत सिंह,(अमृतपुर,फर्रुखाबाद)। विकास खण्ड राजेपुर के ग्राम बहादुरपुर में सरकार के सभी वादे जुमले साबित हो रहे हैं।  सरकार द्वारा बाढ़ राहत सामग्री दी जा रही है लेकिन यह कुछ गांव तक ही सीमित है आपको बता दें कि ग्राम बहादुरपुर की दलित बस्ती में पूरी तरह बाढ़ का कहर बरस रहा है। लेकिन कोई अधिकारी ने इस गांव की तरफ मुड़ कर भी नहीं देखा क्या सरकार का यह दलित प्रेम केवल दिखावा है। कुछ दलित गांव छोड़कर फर्रुखाबाद सिटी में रहने के लिए चले गए बीमारियों ने गांव को घेर लिया है लेकिन कोई स्वास्थ्य विभाग द्वारा दवाई का वितरण नहीं किया गया। लोगों का जीवन अस्त व्यस्त है। किसान परेशान हैं कि उनकी सारी फसल नष्ट हो गई है। धान की फसल बचने की उम्मीद थी लेकिन अब वह भी वचने की उम्मीद नहीं रही। दहिलिया से जमापुर मार्ग पूरी तरह बंद है गंगा नदी में पानी कम होने का नाम नहीं ले रहा। लोगों में दहशत बढ़ती जा रही है लेकिन शासन प्रशासन पूरी तरह सो रहा है। आखिर शासन-प्रशासन किस दुर्घटना के इंतजार में बैठा है- एक कहावत कही जाती है कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं बाद अमृत पिलाने से क्या फायदा।

No comments:

Post a Comment