Latest News

28 Sep 2018

स्वछता पखवाड़े के चलते शहादरा जिले में पुलिस आयुक्त द्वारा ई-मालखाने का शुभारंभ : नई दिल्ली


पूर्वी दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली की पुलिस प्रधानमंत्री की मुहिम डिजिटल इंडिया में कंधे से कंधा मिलाकर साथ चल रही है। और इसी दिशा में अपना एक और कदम आगे बढाते हुए दिल्ली के शाहदरा जिला के सीमापुरी थाने में ई-मालखाना परियोजना का उद्घाटन किया। इस ई-मालखाना परियोजना का उद्घाटन दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक द्वारा किया गया। आपको बता दें कि डिजिटाइजेशन की ओर उठाया जाने वाला दिल्ली पुलिस का यह बहुत बडा कदम है, और इस परियोजना के बाद से दिल्ली पुलिस द्वारा संपत्तियों को संभालने का तरीका पहले से और व्यवस्थित हो जाएगा। गौरतलब है, कि शाहदरा जिला में इस ई-मालखाना परियाजना की शुरूआत के बाद डिजिटलीकरण की ओर बढ रहा ई-मालखाना वाला यह जिला दिल्ली पुलिस का यह दूसरा जिला बन गया है, इससे पहले दिल्ली पुलिस के पहले ई-मालखाना परियोजना की शुरूआत दक्षिण पूर्वी जिला में की गई थी।आज देश बड़ी ही तेजी के साथ डिजिटल इंडिया की तरफ बढ़ रहा है। आज हर कोई डिजिटल इंडिया को अपना रहा है। चाहे वह कोई प्राइवेट संस्था हो या कोई सरकारी महकमा हर कोई डिजिटल इंडिया की ओर अपना कदम बढ़ा रहा है, तो ऐसे में राजधानी दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी संभालने दिल्ली पुलिस कैसे पीछे रह सकती है। दिल्ली पुलिस भी लगातार अपना कदम डिजिटल इंडिया की तरफ बढ़ रही है। इसी फेहरिस्त में राजधानी दिल्ली के दक्षिण.पूर्वी जिले में पहले ई मालखाना प्रोजेक्ट के बाद शाहदरा जिले में दूसरे ई-मलखाना परियोजना का उद्घाटन किया। शाहदरा जिला में इस दूसरे ई-मालखाना परियोजना की शुरुआत दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक द्वारा की गई।
दिल्ली पुलिस द्वारा शुरूआत की गई इस ई-मलखाना परियोजना से मामले की संपत्तियों को और अधिक पेशेवर तरीके से संभालने का मार्ग प्रशस्त करेगी। दिल्ली पुलिस द्वार शाहदरा जिले में इस परियोजना की शुरूआत को महत्वपूर्ण उपलब्धि माना जा रहा है, क्योंकि इस परियोजना की शुरूआत पीएम मोदी के ’स्वच्छ ही सेवा’ अभियान की अवधि के दौरान किया गया है। इस दौरान ई-मलखाना प्रणाली की अवधारणा और कार्यान्वयन पर एक लघु फिल्म भी दिखायी गई, और दिल्ली पुलिस आयुक्त ने मालखाना में तैनात कर्मचारियों के बारे में जागरूकता के लिए इस विषय पर एक हाथ पुस्तिका भी जारी की। तो वहीं दूसरी ओर दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक ने स्थानीय निवासियों को आश्वासन दिया कि उनकी मदद से, दिल्ली पुलिस क्षेत्र को अपराध मुक्त करने के सभी प्रयास करेगा।इस अवसर पर दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक मालखाना के रखरखाव पर जोर देते हुए कहा कि मलखाना का रखरखाव हमेशा मामले की संपत्ति को सुरक्षित रखने और अदालत के समक्ष पेश होने के लिए उसकी पुनर्प्राप्ति और सुरक्षित रूप से वापस रखने की प्राथमिकता रही है। पुलिस आयुक्त ने कहा डिजिटलीकरण के बाद, मामले की संपत्ति को पुनः प्राप्त करना आसान होगा और मूल्यवान समय और ऊर्जा भी बचाएगा। उन्होने कहा कि जिले के सभी पुलिस स्टेशनों में मलखाना के कामकाज की सिंक्रनाइज़ेशन एक बड़ी चुनौती थी। पुलिस उपायुक्त ने शाहदरा जिला उपायुक्त के साथ-साथ पुलिस अधिकारियों और शाहदरा जिले के पुरुषों की सराहना की, ताकि समय की कम अवधि में ऐसी बड़ी संख्या में संपत्तियों को डिजिटाइज करने में अतिरिक्त प्रयास किए जा सकें। उन्होंने दिल्ली के सभी पुलिस स्टेशनों में धीरे-धीरे मलखाना के 100 प्रतिशत डिजिटलीकरण को प्राप्त करने के लिए पुलिस विभाग का संकल्प व्यक्त किया।
इस मौके पर उत्तर दिल्ली लॉ एंड ऑर्डर स्पेशल सीपी संदीप गोयल, स्पेशल सीपी एस.के. गौतम, दक्षिण दिल्ली लॉ एंड ऑर्डर स्पेशल सीपी आरपी उपाध्याय, सेंट्रल दिल्ली रेंज के ज्वाइंट सीपी राजेश खुराना, पूर्वी दिल्ली रेंज के ज्वाइंट सीपी रविंद्र यादव, उत्तरी दिल्ली रेंज के ज्वाइंट सीपी सागरप्रीत हुड्डा सहित कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारी और आरडब्ल्यूए के प्रतिनिधि भी उपस्थित हुए। 

No comments:

Post a Comment