Latest News

2 Sep 2018

भीख मांगने को मजबूर राष्ट्रीय स्तर का पैरा-ऐथलीट : मध्य प्रदेश


भोपाल। राष्ट्रीय स्तर के पैरा-ऐथलीट मनमोहन सिंह लोधी भोपाल की सड़कों पर भीख मांगने को मजबूर हैं। राष्ट्रीय स्तर पर पदक जीतने के बाद राज्य सरकार ने उन्हें नौकरी के वादे किए गए थे लेकिन वे कभी पूरे नहीं किए गए।पैरा-स्प्रिंटर मनमोहन सिंह लोधी नरसिंहपुर जिले की गोटेगांव तहसील के कंदरापुर गांव के रहने वाले हैं। 2009 में हुई एक दुर्घटना में वह अपना एक हाथ गंवा बैठे। लेकिन यह दुर्घटना उनका हौसला नहीं तोड़ पाई। उन्होंने राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर कई पुरस्कार जीते। 2017 में अहमदाबाद में लोधी ने 100-200मीटर स्प्रिंट में सिल्वर मेडल जीता था। इसके बाद मध्य प्रदेश सरकार ने उन्हें सर्वश्रेष्ठ पैरा-ऐथलीट का इनाम दिया था।उन्होंने कहा, 'मैं मुख्यमंत्री से चार बार मिल चुका हूं। उन्होंने मुझे नौकरी का वादा किया था लेकिन वह अभी तक पूरा नहीं हुआ है। मेरी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। मुझे खेलने और अपने परिवार को चलाने के लिए पैसे की जरूरत है। अगर मुख्यमंत्री मेरी मदद नहीं करेंगे तो मैं सड़कों पर भीख मांगकर अपना घर चलाऊंगा।' इससे पहले लोधी ने कहा था कि अगर उन्हें नौकरी देने का वादा पूरा नहीं किया गया तो वह भूख हड़ताल पर चले जाएंगे।

No comments:

Post a Comment