Latest News

5 Sep 2018

पुलिस के साथ एनकाउंटर के बाद टिल्लू गैंग के 2 बदमाश गिरफ्तार : नई दिल्ली


नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और टिल्लू गैंग के 2 गैंगस्टरों के बीच बुधवार सुबह अलीपुर में एनकाउंटर के बाद 2 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया गया। दोनों तरफ से 6 राउंड फायरिंग के चलते एक बदमाश के पांव में गोली लगी। दो पुलिसकर्मियों की बुलेट प्रूफ जैकेट में गोलियां लगीं। मौके से दोनों बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया गया। स्पेशल सेल का दावा है कि दोनों बदमाशों ने 20 अगस्त को नरेला में गोगी गैंग के मेम्बर अरमान की गोली मारकर हत्या की थी। टिल्लू और गोगी गैंग के बीच कुछ महीने से जबरदस्त गैंगवॉर चल रहा है, जिस वजह से उनके ऊपर दिल्ली पुलिस का पूरा फोकस है। स्पेशल सेल के डीसीपी संजीव यादव ने हमारे सहयोगी सांध्य दैनिक 'सान्ध्य टाइम्स' को बताया कि अरमान की हत्या की सिलसिले में सेल की टीम ने सबसे पहले नरेला के बांकनेर से मनजीत नाम के गैंगस्टर को अरेस्ट किया। उससे जानकारी मिली कि उसके दो साथी सुबह अंधेरा छंटने से पहले अलीपुर की हिरंकी रोड से गुजरने वाले हैं। इस सूचना पर एसीपी संजय दत्त के सुपरविजन में इंस्पेक्टर संजीव यादव और पीसी यादव की टीम ने वहां ट्रैप लगाया। सुबह करीब 5 बजे पुलिस टीम ने स्कूटी सवार दो युवकों को घेरने की कोशिश की। उन्होंने फायरिंग कर दी। 
बदमाशों की तरफ से दो फायर हुए, जिनके निशाने पर एएसआई लव और एसआई गोपाल आए, लेकिन बुलेट प्रूफ जैकेट्स पहने होने से दोनों सेफ रहे। पुलिस टीम की जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश के दायें पांव में गोली लगी। उसके बाद दोनों को काबू कर लिया गया। घायल बदमाश का नाम नीतीश उर्फ शिवम (21) है जो नरेला का रहने वाला है। इलाज के बाद उसकी हालत खतरे से बाहर है। फिलहाल वह पुलिस की कस्टडी में है। दूसरे गिरफ्तार आरोपी का नाम महेश उर्फ प्रवीण (25) है। वह सोनीपत का रहने वाला है।गोगी और टिल्लू गैंग के बीच गैंगवॉर राजधानी की कानून-व्यवस्था के लिए बड़ी चुनौती बना हुआ है। 18 जून को बुराड़ी के संत नगर में गोगी और टिल्लू गैंग के बीच गैंगवॉर के चलते एक राह चलती महिला समेत 3 की मौत हो गई थी। कुछ लोग जख्मी हो गए थे। इसके बाद से स्पेशल सेल और क्राइम ब्रांच की टीमें सरगर्मी से दोनों गैंग के गैंगस्टर्स की तलाश लगी थीं। उस घटना के बाद बुधवार को टिल्लू गैंग के गैंगस्टर्स के साथ पहला एनकाउंटर हुआ है, हालांकि सेल ने जिन 2 गैंगस्टरों को अरेस्ट किया है, उनकी बुराड़ी कांड में संलिप्तता सामने नहीं आई है। आरोपियों से पूछताछ जारी है। सेल के सूत्रों का कहना है कि तीनों बदमाश मर्डर, अटेम्प्ट टु मर्डर के अलावा फिरौती और ट्रेनों में डकैती के लिए कुख्यात हैं। तीनों टिल्लू गैंग में इसलिए शामिल हुए कि उन्हें आधुनिक हथियार मिल सकें और गैंग के जरिए बड़ा नाम करें। सभी की उम्र 21 से 25 साल के बीच हैं। आरोपियों से कट्टे रिकवर हुए हैं। पुलिस का कहना है कि तीनों ने 26 अगस्त को सोनीपत में एक पटवारी से 50 लाख की फिरौती मांगी थी। इस केस में हरियाणा पुलिस उनकी सरगर्मी से तलाश कर रही थी। 

No comments:

Post a Comment