Latest News

30 Aug 2018

नागपुर की कंपनी भारतीय रेलवे को सप्‍लाई करेगी ट्रांसफॉर्मर : महाराष्‍ट्र


नागपुर। महाराष्‍ट्र के नागपुर की एक छोटी कंपनी ने कई बड़ी कंपन‍ियों को मात देते हुए भारतीय रेलवे को ट्रांसफॉर्मर सप्‍लाइ करने का ठेका अपने नाम कर ल‍िया है। व‍िश्‍वास पावर इंजिन‍ियर‍िंग स‍िस्‍टम प्राइवेट ल‍िम‍िटेड कंपनी, जो एक मध्‍यम स्‍केल की कंपनी है, उसे भारतीय रेलवे को ट्रांसफॉर्मर सप्‍लाइ करने का कॉन्‍ट्रैक्‍ट म‍िल गया है। इस कंपनी का टर्नओवर महज 25 करोड़ रुपये है। कई द‍ि‍ग्‍गज कंपन‍ियों को टक्‍कर देते हुए उसने यह जीत हासिल की है।व‍िश्‍वास पावर इंजिन‍ियर‍िंग स‍िस्‍टम प्राइवेट ल‍िम‍िटेड की स्‍थापना 1996 में हुई थी। कंपनी का दावा है कि पहली बार ऐसा हुआ है कि भारतीय रेलवे को ट्रांसफॉर्मर देने का ठेका क‍िसी मझोली कंपनी को सभी मापदंड पूरा करने पर मि‍ला है। कंपनी के सीन‍ियर मार्केट‍िंग मैनेजर सुधीर तपीकर ने हमारे सहयोगी अखबार परिपूर्ण न्यूज़ को बताया, 'कंपनी ने ट्रांसफॉर्मर सप्‍लाइ के ल‍िए 2 करोड़ का प्रस्ताव रखा था, जबक‍ि अन्‍य कंपनियों ने इसके ल‍िए 2.75 और 3 करोड़ रुपये तक का प्रस्ताव भेजा था।' 
उनका कहना है, 'हमें भारतीय रेलवे की तरफ से 13 करोड़ रुपये का कॉन्‍ट्रैक्‍ट म‍िला है। इसके तहत सेंट्रल रेलवे के भुसावल ड‍िव‍िजन पर कंपनी को विद्युत सबस्टेशन बनाना है। इसमें से 4 करोड़ की राशि ट्रांसफॉर्मर के लिए है।'सुधीर तपीकर ने बताया कि कंपनी ने भारतीय रेलवे के सभी मापदंडों को पूरा क‍िया है, जिसकी वजह से भारतीय रेलवे ने इतना बड़ा कॉन्‍ट्रैक्‍ट द‍िया है। तपीकर ने बताया कि ट्रांसफॉर्मर मार्केट पर बड़ी कंपन‍ियों का राज है। उनके मुकाबले व‍िश्‍वास पावर एक छोटी कंपनी है। उन्होंने कहा, 'हम रेलवे के ल‍िए खास तरह से ट्रांसफॉर्मर तैयार करेंगे। साथ ही हमने इसके ल‍िए अन्‍य कंपनियों के मुकाबले कम रेट बताए थे। इलेक्‍ट्र‍िक लोकोमोट‍िव चलाने के ल‍िए ट्रांसफॉर्मर का महत्‍वपूर्ण योगदान होता है।'

No comments:

Post a Comment