Latest News

30 Aug 2018

दिल्ली में पहली बार 13 जिलों में 4 जिलों में महिला डीसीपी : दिल्ली


नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस में कई आईपीएस को इधर से उधर किया गया है। खास बात यह है कि पहली बार 13 में से 7 जिलों में महिला डीसीपी होंगी। डीसीपी मोनिका भारद्वाज वेस्ट डिस्ट्रिक्ट की कमान संभालेंगी। इसके अलावा, असलम खान, मेघना यादव और नूपुर प्रसाद पहले से ही क्रमशः नॉर्थवेस्ट, शाहदरा और उत्तरी जिलों की कमान संभाल रही हैं।बड़ा बदलाव यह है कि साउथ दिल्ली के डीसीपी रोमिल बानिया को यहां से हटाकर झड़ौंदा कलां पीटीसी का वाइस प्रिंसिपल बनाया जाना बताया जा रहा है और इनकी जगह मिल गई है। इसके पीछे की वजह करीब एक महीने पहले सीबीआई द्वारा साकेत थाने के एसएचओ को कथित रूप से रिश्वत लेने के मामले में गिरफ्तार किया जाना बताया जा रहा है। हालांकि, पुलिस इन ट्रांसफर-पोस्टिंग को रूटीन ट्रांसफर का हिस्सा बता रही है। पुलिस की ओर से पता लगा है कि साउथ दिल्ली के डीसीपी रहे 2007 के आपीएस अफसर रोमिल बानिया को यहां से हटाकर पीटीसी झड़ौंदा कलां भेज दिया गया है जबकि वेस्ट दिल्ली के डीसीपी विजय कुमार को साउथ दिल्ली की कमान सौंपी गई है। 
2007 बैच के ही आईपीएस अफसर विजय कुमार को साउथ दिल्ली जिला सौंपना इनकी काबलियत के रूप में देखा जा रहा है। अभी तक साउथ-वेस्ट दिल्ली में अडिशनल डीसीपी-1 का कार्य देख रहीं 2009 बैच की आईपीएस अफसर मोनिका भारद्वाज को वेस्ट दिल्ली जिले का डीसीपी बनाया गया है। इन्हें पहली बार डीसीपी पद दिया गया है।2004 बैच के आईपीएस अफसर धीरज कुमार को सुप्रीम कोर्ट से अडिश्नल सीपी स्पेशल ब्रांच, पीएम सिक्यॉरिटी से अडिश्नल सीपी अमरिंदर कुमार को अडिश्नल सीपी ट्रैफिक और 2004 बैच के ही आईपीएस वीनू बंसल को डीसीपी सिक्यॉरिटी से डीसीपी ट्रैफिक में भेजा गया है जबकि आईपीएस एस के तिवारी को डीएपी 7वीं बटालियन से डीसीपी सुप्रीम कोर्ट सिक्यॉरिटी और 2009 बैच के दानिप्स अफसर गिरीराज सिंह को आरपी भवन से अडिशनल डीसीपी-2 द्वारका जिले में तैनात किया गया है। 

No comments:

Post a Comment