Latest News

5 Jul 2018

डॉक्टरों ने मरीज के पेट से निकाला गिलास : कानपुर


कानपुर। कानपुर के रामा हॉस्पिटल ऐंड रीसर्च सेंटर में पिछले दिनों डॉक्टरों के सामने हैरान कर देनेवाला एक मामला सामने आया। दरअसल, अस्पताल में बतौर सीनियर सर्जन कार्यरत डॉक्टर दिनेश कुमार के पास औरैया के दिबियापुर का एक शख्स पहुंचा, जिसे पेट दर्द की शिकायत थी।डॉक्टर ने पीड़ित को जांच कराने के लिए कहा, जिसके बाद मरीज ने टेस्ट कराए और जब रिपोर्ट सामने आई तो सभी के होश उड़ गए। मरीज की जांच रिपोर्ट में पता चला कि उनके पेट में एक गिलास फंसा हुआ है। यही नहीं, जब इस पूरे मामले में डॉक्टरों ने मरीज से पूछा कि यह पेट में कैसे पहुंचा तो एक और हैरान कर देनेवाली बात सामने आई। 
बातचीत में सीनियर सर्जन डॉक्टर दिनेश कुमार ने बताया, 'रामदीन के मुताबिक, उन्होंने पिछले दिनों अपनी एक बाइक बेची थी, जिसके एवज में उन्हें पचास हजार रुपये मिले थे। इन्हीं पैसों को लूटने के चक्कर में पहले तो बदमाशों ने उन्हें पीट-पीटकर बेहोश कर दिया। इसके बाद बदमाशों ने उनके गुदा द्वार से स्टील का गिलास अंदर की ओर ठूंस दिया, जो कि उनके पेट में पहुंच गया। इस घटना के बाद 26 जून को मरीज के पेट में दर्द होने की शिकायत सामने आई तो वह इलाज के लिए अस्पताल पहुंचे।' 
डॉक्टर दिनेश कुमार का कहना है, 'जांच में एक बड़ा गिलास सामने आने के बाद 27 जून को उन्होंने डॉक्टर राजीव कुमार, डॉक्टर अमित, डॉक्टर रोहित और डॉक्टर आशीष के साथ मिलकर मरीज का ऑपरेशन किया। तकरीबन एक घंटे तक चले ऑपरेशन में मरीज के पेट से गिलास निकल आया।' उन्होंने कहा कि आमतौर पर बहुत छोटी सी चीजों के पेट में जाने के तो केस सामने आते हैं लेकिन यह पहला ऐसा मामला सामने आया है कि शख्स के पेट में इतना बड़ा गिलास फंस गया हो। गुदा द्वार से गिलास ठूंसे जाने के मामले में डॉक्टर दिनेश का कहना है कि यदि दवाइयों के जरिए बेहोश किया गया था तो इसमें मेडिकल से जुड़े लोग शामिल थे क्योंकि किसी भी शख्स को इतनी आसानी से बेहोश करके यह सब कर पाना आसान नहीं है। 

No comments:

Post a Comment