Latest News

18 Jul 2018

मॉडलिंग का झांसा देकर पूरे कॉलेज को बेवकूफ बना लगाया चूना : लखनऊ


लखनऊ। एक जालसाज ने अमीनाबाद इंटर कॉलेज में गजब की ठगी की। वह कॉलेज पहुंचा। प्रिंसिपल से मिला। छात्रों को मॉडलिंग का चांस देने का झांसा दिया। फोटोशूट के लिए रैम्प बनवाने को बोला और छात्रों को चेन पहनकर आने को कहा। अगले दिन फोटोशूट की बात कहकर दो छात्रों और एक टीचर का फेशियल शुरू कर दिया। इसी बीच उनकी चेन उतरवा ली। एक और टीचर से नाश्ते के नाम पर 4 हजार रुपये ऐंठे और चुपके से निकल गया। काफी देर तक नहीं लौटा तब सबको ठगी का अहसास हुआ। पूरा वाकया कॉलेज के सीसीटीवी कैमरे में कैद है। मामला सामने आने पर पुलिसवाले भी हैरत में हैं। उन्होंने भी कभी किसी स्कूल में ठगी की ऐसी वारदात अब तक नहीं सुनी है।कॉलेज के प्रिंसिपल साहब लाल मिश्रा ने बताया कि तीन दिन पहले करीब 55 साल का एक शख्स आया। अपना नाम समीर खुरैशी बताया। बोला, एक कम्पनी में मैनेजर है। उसने कम्पनी से जुड़े दस्तावेज दिखाए और कुछ मॉडल की जरूरत का जिक्र किया। बोला, कॉलेज के छात्रों को मॉडलिंग का चांस देना चाहता है। उसके तौर-तरीके से कोई शक नहीं हुआ तो प्रिंसिपल ने हामी भर दी। 
प्रिंसिपल के मुताबिक, जालसाज ने कहा कि उसने कुछ छात्रों को चुना और कुछ देर ट्रेनिंग दी। फिर बोला, बाकी ट्रेनिंग सोमवार को होगी और छात्रों को मॉडलिंग के लिए चेन पहनकर आना होगा। सोमवार को वह फिर आया और उसके कहने पर कॉलेज में रैम्प बनवाया जाने लगा। इस बीच वह छात्रों को ट्रेनिंग के बहाने फिर क्लास रूम ले गया। वहां छात्रों से कहा कि रैम्प वॉक से पहले उनकी कुछ फोटो और विडियो मुम्बई भेजनी है। लिहाजा, छात्रों से फेशियल करवाने को बोला। वह इंटर के छात्रों खदरा निवासी फरमान और रजत अवस्थी को कम्प्यूटर रूम ले गया और फेशियल के बहाने उनकी चेन उतरवा ली। पास खड़े टीचर राजीव ठाकुर को भी जाल में फंसा लिया। कहा कि आपको मुख्य अतिथि को बुके देना है। आप भी फेशियल करा लीजिए। इस दौरान उसने उनकी चेन भी उतरवा ली। जालसाज ने कम्प्यूटर टीचर सुजाऊल हसन से छात्रों को नाश्ता करवाने के नाम पर 4000 रुपये ले लिए। झांसा दिया कि मेरी टीम आने वाली है। टीम के पास रुपये हैं। टीम के आने पर रुपये लौटा दूंगा। इसके बाद वह नाश्ता लाने के बहाने निकल गया। उसके पास दो छात्रों और एक शिक्षक की तीन चेन थी। काफी देर तक न लौटने पर कॉलेज प्रशासन को ठगी का अहसास हुआ। प्रिंसिपल की सूचना पर पहुंची पुलिस ने पहुंच कर छानबीन शुरू की और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जालसाज को तलाश रही है। 
प्रिंसिपल के मुताबिक, जालसाज खुद को काफी धार्मिक प्रवृत्ति का दिखा रहा था। उसकी जेब में धार्मिक पुस्तक रखी थी। वह बार-बार उस पुस्तक को चूमता। पुलिस के मुताबिक, आरोपित ने प्रिंसिपल को एक मोबाइल नम्बर दिया था। उसकी कॉल डिटेल खंगाली जा रही है। फिलहाल नम्बर बंद है। 

No comments:

Post a Comment